लालकिले में राष्ट्रपति संग दशहरा मनाएंगे PM मोदी, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए

देश में दुर्गा पूजा का त्योहार धूमधाम से मनाए जाने के बाद शुक्रवार को विजयदशमी मनाई जाएगी। इस मौके पर बुराई के प्रतीक रावण का दहन होगा। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दिल्ली के रामलीला मैदान में दशहरा मनाएंगे। प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दिल्ली की ऐतिहासिक लवकुश रामलीला में शामिल होंगे।लालकिले में राष्ट्रपति संग दशहरा मनाएंगे PM मोदी, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए

बुराई पर अच्छाई की विजय का पर्व दशहरा इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में ही मनाएंगे। वह लालकिला में आयोजित रामलीला में प्रतीकात्मक तीर छोड़कर रावण का वध करेंगे। यह तीसरा अवसर होगा जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विजय दशमी, राष्ट्रीय राजधानी में मनाएंगे। पिछले वर्ष व वर्ष 2014 में भी प्रधानमंत्री ने दशहरा दिल्ली में मनाया था।

इस बारे में लवकुश रामलीला समिति के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ उनकी रामलीला में प्रधानमंत्री की भी मौजूदगी होगी। विशिष्ट अतिथि विधि विधानपूर्वक राम, लक्ष्मण, सीता व हनुमान की आरती उतारेंगे। इसके बाद आगे का कार्यक्रम शुरू होगा।

उन्होंने बताया कि रावण, मेघनाथ व कुंभकरण का पुतला दहन शाम 6 बजे होगा। खास बात ये है कि जिस रामलीला के मंच पर प्रधामंत्री आएंगे उस पर उनके मंत्रीमंडल के दो सदस्यों डॉ. हर्षवर्धन व विजय सांपला ने रामलीला के पात्रों की भूमिका निभाई है। इसके अलावा दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंदर गुप्ता व दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी इस मंच पर अभिनय किया है।

पिछले वर्ष भी प्रधानमंत्री ने दशहरा लालकिला में ही मनाया था। वह यहां आयोजित होने वाली श्री धार्मिक लीला में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडु के साथ शामिल हुए थे। वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री ने लखनऊ के ऐशबाग की ऐतिहासिक रामलीला में दशहरा मानाया था।

श्री धार्मिक लीला में इस बार सोनिया गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह शामिल होंगे। उनके साथ भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई भी होंगे। वहीं, नवश्री लीला में सोनिया गांधी व डॉ. मनमोहन सिंह के अलावा कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल होंगे। लालकिला की तीनों रामलीलाओं के साथ ही दिल्ली की अन्य रामलीलाओं में आकर्षक रंगों से सजे विशालकाय पुतले खड़े कर दिए गए हैं। जिनकी ऊंचाई 70 से लेकर 100 फुट तक है। नवश्री में 7 बजे पुतला दहन होगा।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए

शुक्रवार को दशहरे के मौके पर लाल किला मैदान में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, भारत के मुख्य न्यायाधीश, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत काफी संख्या में मंत्री, राजनेता, विशिष्ट अतिथि उपस्थित रहेंगे। इसे देखते हुए दिल्ली पुलिस ने लाल किला मैदान व आसपास सुरक्षा के पुख्ता बंदोबश्त किए हैं। सीसीटीवी कैमरों से मेला परिसर के चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है। इस दौरान लाल किला आसपास लोगों की भारी भीड़ जुटेगी। इसे देखते हुए आसपास मार्ग डायवर्जन लागू किया गया है। साथ ही यहां पर भारी पुलिस बल तैनात किया जा रहा है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button