प्रधानमंत्री मोदी ने मलय और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में ट्वीट किया है कि तुन डॉक्टर महातिर मोहम्मद से मिलकर खुशी हुई. गर्मजोशी से स्वागत के लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं. भारत-मलेशिया संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए हमनें सकारात्मक चर्चा की. दोनों नेताओं ने भारत-मलेशिया के बीच आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों को बढा़वा देने के तरीकों पर भी चर्चा की.

92 वर्षीय महातिर मोहम्मद ने 10 मई को ली थी शपथ

मलेशिया के प्रधानमंत्री के रूप में 92 वर्षीय महातिर मोहम्मद ने 10 मई को शपथ ली थी. महातिर के नेतृत्व में विपक्षी गठबंधन ने हाल ही में संपन्न आम चुनावों में बारिसन नेशनल (बीएन) गठबंधन पर अभूतपूर्व जीत हासिल की जो मलेशिया में 1957 से सत्ता में था. दोनों नेताओ क बीच यह पहली मुलाकात थी. मोदी पिछली बार 2015 में मलेशिया आये थे. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पहले ट्वीट किया था कि दोनों नेताओं ने आपसी रणनीतिक साझेदारी को मजबूत बनाने को लेकर सकारात्मक चर्चा की. प्रधानमंत्री ने डॉक्टर महातिर को मलेशिया का प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी. कुमार ने ट्वीट किया था कि मलेशिया एक रणनीतिक साझेदार और हमारी एक्ट ईस्ट नीति में प्राथमिकता वाला देश है.

मलेशिया से प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर रवाना

नयी दिल्ली में ही मोदी ने कहा था कि इंडोनेशिया से सिंगापुर जाने के दौरान वह कुछ समय के लिए मलेशिया में रूककर महातिर से मुलाकात करेंगे और नये मलेशियाई नेतृत्व को बधाई देंगे. मलेशिया से प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर रवाना हो गए, जहां वह वार्षिक सुरक्षा बैठक शांगरी-ला डायलॉग में शुक्रवार को अहम संबोधन देंगे. इंडोनेशिया की पहली सरकारी यात्रा के दौरान मोदी ने राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ ‘सकारात्मक चर्चा’की. भारत और इंडोनेशिया के बीच रक्षा सहयोग को बढ़ावा देने और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में नौवहन की स्वतंत्रता सहित 15 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए.