मेट्रो से नोएडा पहुंचे पीएम मोदी कुछ देर में मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन आज नोएडा को दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री की सौगात देने जा रहे हैं. अब से कुछ देर बाद पीएम मोदी और साउथ कोरिया के राष्ट्रपति नोएडा में इस मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन करेंगे. इस दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ रहेंगे.

इससे पहले पीएम मोदी ने मून जे इन के साथ मेट्रो में सफर किया. वो दिल्ली के मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन से नोएडा के बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो से पहुंचे. इस दौरान उनके साथ साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन भी रहे. इससे पहले दोनों नेता गांधी स्मृति भी गए. जहां उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पसंदीदा भजन सुने.

दिल्ली मेट्रो ने अपने बयान में बताया कि पीएम मोदी ने एक आदमी की तरह टोकन लेकर मेट्रो में सफर किया. साथ ही इस दौरान बाकी यात्री भी मेट्रो में यात्रा करते रहे.

कुछ ही देर में पीएम मोदी करेंगे दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन, सीएम योगी भी होगे उनके साथ

नोएडा के सेक्टर 81 में स्थित सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की यह फैक्ट्री करीब 35 एकड़ में फैली है. देश में इसे मेक इन इंडिया की तर्ज पर देखा जा रहा है. इससे करीब 20 हजार रोजगार पैदा होने का अनुमान है. इस फैक्ट्री को बनाने में पिछले साल सैमसंग ने करीब 5 हजार करोड़ का निवेश किया था.

ये हैं खासियत:

-देश में 1990 के दशक की शुरुआत में पहला इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण केंद्र स्थापित हुआ जिसमें 1997 में टीवी बनना शुरू हुआ. मौजूदा मोबाइल फैक्ट्री 2005 में लगाई गई.

-पिछले साल जून में दक्षिण कोरियाई कंपनी ने 4,915 करोड़ रुपये का निवेश कर नोएडा प्लांट में विस्तार करने का ऐलान किया, जिसके एक साल बाद नई फैक्ट्री अब दोगुना उत्पादन करने के लिए तैयार है.

– भारत में कंपनी इस समय 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बना रही है और नए प्लांट के चालू हो जाने पर तकरीबन 12 करोड़ मोबाइल फोन की मैन्यूफैक्चरिंग होने की संभावना है.

– नई फैक्ट्री में न सिर्फ मोबाइल बल्कि सैमसंग के कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे रेफ्रिजरेटर और फ्लैट पैनल वाले टेलीविजन का उत्पादन भी दोगुना हो जाएगा और कंपनी इन सारे सेगमेंट में नंबर वन की भूमिका में बनी रहेगी.

– सैमसंग के भारत में दो विनिर्माण संयंत्र, नोएडा और तमिलनाडु के श्रीपेरुं बदूर में हैं. इसके अलावा पांच रिसर्च एंड डेवलेपमेंट सेंटर और नोएडा में एक डिजाइन केंद्र हैं जिनमें 70 हजार लोग काम करते हैं. कंपनी ने अपने नेटवर्क को बढ़ाया है और 1.5 लाख रिटेल आउटलेट खोले हैं.

गौरतलब है कि यहां सैमसंग दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री लगाने जा रहा है. कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स के मामले में दुनिया के मैप पर सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री होने का टैग चीन या दक्षिण कोरिया के पास नहीं है और अमेरिका के पास भी नहीं है, बल्कि अब उत्तर प्रदेश के शहर नोएडा को यह उपलब्धि हासिल होने जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

26 सितंबर 2018 का राशिफल और पंचांग: इस नक्षत्र के शुभ योग में इन राशियों होगा सबसे ज्यादा मुनाफा…

आज का पंचांग: 26 सितंबर 2018 दिन-बुधवार ,