पीएम नरेंद्र मोदी जल्‍द ही एनसीसी के करीब 15 लाख कैडेट्स से संवाद कर सकते हैं. नेशनल कैडेट कोर ने पीएमओ के लिए तकरीबन 15 लाख कैडेटों के मोबाइल फोन नंबर और ई- मेल आईडी एकत्र कर रहा है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्‍द ही इन कैडेट्स से संवाद कर सकते हैं. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मोदी ने जब हाल में एनसीसी महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल बीएस सहरावत से मुलाकात की, तो उन्होंने कैडेट से संवाद करने की इच्छा जताई.

एनसीसी रक्षा मंत्रालय के तहत काम करती है.पिछले महीने लेफ्टिनेंट जनरल सहरावत ने एनसीसी के सभी राज्य निदेशालयों को पत्र भेजकर उनसे कैडेटों के मोबाइल फोन नंबर और ई- मेल आईडी जैसे निजी ब्योरे जुटाने को कहा.
लेफ्टिनेंट जनरल सहरावत ने कहा, हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि प्रधानमंत्री इन कैडेंटों से कैसे संवाद करेंगे, लेकिन इस बात के संकेत हैं कि वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या नरेंद्र मोदी ऐप के जरिए ऐसा करेंगे.

संसद में विरोध के चलते चरवाहा बनकर आए टीडीपी के सांसद

सूत्रों ने बताया कि राज्य निदेशालयों ने तकरीबन 80 फीसदी कैडेटों के फोन नंबर और ई- मेल आईडी जुटा लिए हैं. हालांकि, उन्होंने कहा कि कैडेटों को नरेंद्र मोदी ऐप डाउनलोड करने के लिए कोई निर्देश नहीं दिए गए हैं.

एनसीसी मुख्यालय ने राज्य निदेशालयों से वैसे कॉलेज छात्रों की सूची तैयार करने को अलग से कहा है, जो एनसीसी का हिस्सा हैं. बता दें किएनसीसी देश का सबसे बड़ा युवाओं का संगठन है. नेशनल कैडेट कोर की स्थापना 1948 में की गई थी.