Home > Mainslide > PM मोदी के साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में देश की सांस्कृतिक राजधानी का हो गया कायाकल्प

PM मोदी के साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में देश की सांस्कृतिक राजधानी का हो गया कायाकल्प

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में वाराणसी को एक ऐसा सांसद मिला जिसने साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में ही देश की सांस्कृतिक राजधानी का कायाकल्प कर दिया। इस कम समय के कार्यकाल में भी यहां पर 126 प्रोजेक्ट को पूरा कराया गया। कुल 4679.79 करोड़ की लागत से वाराणसी के घाट के साथ ही सड़कों, गलियों, चौराहों, पेयजल व्यवस्था, सीवरेज व्यवस्था, बिजली व्यवस्था का ढांचा नया कर दिया गया।PM मोदी के साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में देश की सांस्कृतिक राजधानी का हो गया कायाकल्प

नई काशी हो या पुरानी। बतौर सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनारस शहर में करोड़ों की परियोजनाओं को पूरा किया। बिजली, पानी, सड़क, सिंचाई व शिक्षा के क्षेत्र में मोदी का संसदीय क्षेत्र काशी समृद्ध हुआ है। मोदी को सांसद बनाकर यहां की जनता ने जो कल्पना की थी उस पर पीएम नरेंद्र मोदी अक्षरश: उतरने की कोशिश भी की है। उन्होंने मूलभूत जरूरतों के साथ ही भविष्य पर भी पूरा फोकस किया है। वर्तमान कार्यकाल के साथ ही उनकी वाराणसी के विकास की भविष्य की भी योजना तैयार है।

1- पूर्ण कार्य

362 करोड़ : पुरानी काशी में शहरी विद्युत सुधार कार्य।

253 करोड़ : वाराणसी नगर निगम स्टार्म वाटर ड्रेनेज योजना।

253 करोड़ : बड़ालालपुर में ट्रेड फेसिलेटेशन सेंटर।

158 करोड़ : हल्दिया-वाराणसी से फूलपुर तक गैस पाइपलाइन।

139.79 करोड़ : वाराणसी नगरीय जलसंपूर्ति योजना प्रायरिटी-1।

111 करोड़ : लहरतारा कैंसर हास्पिटल।

100.86 करोड़ : बीएसयूपी के तहत आवास निर्माण की नौ परियोजनाएं।

100 करोड़ : हृदय से टाउनहाल का रि-डेवलपमेंट, 81 हेरिटेज स्थल और दुर्गाकुंड से अस्सी घाट तक विकास, सात पार्क, अन्य 34 हेरिटेज सड़क का निर्माण एवं मरम्मत, हेरिटेज पोल एवं लाइट व चार तालाबों का सुंदरीकरण।

85.13 करोड़ : धानापुर चहनिया मार्ग के बलुआ घाट पर गंगा सेतु।

84.74 करोड़ : बीएचयू प्रवेश द्वार के सामने रामनगर मार्ग पर गंगा सेतु।

84.61 करोड़ : 3722 मजरों में दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति।

50 करोड़ : शहरी गैस वितरण परियोजना प्रथम चरण।

42.29 करोड़ : वाराणसी में राजकीय आयुर्वेदिक कालेज।

39.16 करोड़ : मंडुआडीह रेलवे स्टेशन के मध्य समपार-3ए पर रेल उपरिगामी सेतु।

36.82 करोड़ : मुस्तफाबाद रमचंदीपुर मार्ग पर सोता सेतु।

35 करोड़ : एनएच-56 के बाबतपुर से एयरपोर्ट तक फोरलेन कार्य।

27.09 करोड़ : बीएचयू कैंसर संस्थान, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला महिला चिकित्सालय वाराणसी, मानसिक चिकित्सालय, मंडलीय चिकित्सालय, राजकीय चिकित्सालय व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का विकास।

25.68 करोड़ : डीसेंट्रलाइज्ड वेस्ट-टू-इनर्जी, 7 धोबी घाट, स्वच्छता, गंगा के घाट, आसरा योजना से 48 आवास आदि नगरीय सुविधाएं।

22.75 करोड़ : क्रीड़ा संकुल एस्ट्रोटर्फ, रामगढ़वा और खरगुपुर उच्च प्राथमिक विद्यालय, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय देईपुर में छात्रावास, राजकीय महिला पालिटेक्निक में छात्रावास का निर्माण और शैक्षिक विकास।

20 करोड़ : अटल इंक्यूबेशन सेंटर बीएचयू।

15 करोड़ : मालवीय ऐथीक्स सेंटर बीएचयू।

15.43 करोड़: 46 सामुदायिक शौचालय का निर्माण

5.48 करोड़ : वाराणसी शहर के परिधिगत 13 ग्राम पंचायतों का कूड़ा संग्रह एवं उठान कार्य।

4.79 करोड़ : विस्मिल्लाह खां का मकबरा स्थल, सारनाथ पर्यटक आवास गृह उच्चीकरण, गोदौलिया पर दशाश्वमेध मार्ग पर नए गेट का निर्माण एवं श्री काशी विश्वनाथ गली के पूर्व निर्मित प्रवेश द्वार का जीर्णोद्धार समेत पर्यटन विकास।

4.34 करोड़ : पेरिशेबल कार्गो सेेंटर राजा तालाब।

तीन करोड़: श्री लाल बहादुर चिकित्सालय रामनगर में ओटी ब्लाक व सेंट्रल गैस सिस्टम का निर्माण।

80 करोड़ : अन्य विकास कार्य।

2- लोकार्पित व शिलान्यास की गई परियोजनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बतौर सांसद वाराणसी में कई परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। उसी कड़ी में कल दस परियोजनाओं को लोकार्पण किया और सात परियोजना का शिलान्यास। ये सभी परियोजनाएं जनहित में हैं।

लोकार्पित परियोजनाएं : 10

शिलान्यास हुआ : 07

कुल लागत : 2412 करोड़

लोकार्पण

812.59 करोड़ : वाराणसी से बाबतपुर फोरलेन।

– दो लेन संकरे रास्ते से मुक्ति मिलेगी, कम समय में पहुंचेंगे बाबतपुर।

759.36 करोड़ : रिंग रोड प्रथम फेज

– आजमगढ़, गाजीपुर व जौनपुर हाइवे पर ट्रैफिक बिना शहर में प्रवेश किए बाहर से गुजर जाएगी।

208.00 करोड़ : मल्टीमॉडल टर्मिनल।

– जल परिवहन को बढ़ावा व 2000 लोगों को रोजगार के अवसर।

186.48 करोड़ : दीनापुर एसटीपी

– रोजाना शहर से निकलने वाले 140 एमएलडी सीवरेज का शोधन।

155.87 करोड़ : इंटरसेप्शन सीवर व पंपिंग मेन कार्य।

– तीन पंपिंग स्टेशनों से सीवर लिफ्ट कर एसटीपी में पहुंचेगा मल-जल।

139.41 करोड़ :आइपीडीएस से विद्युत सुधार।

– विद्युत उपलब्धता में वृद्धि के अलावा लाइनलास रुक सकेगा।

34.01 करोड़ : सीवरेज पंपिंग स्टेशन।

– सिस वरुणा क्षेत्र में गंगा व वरुणा नदी में मलजल को गिरने से रोका जाएगा।

2.79 करोड़ : तेवर ग्राम पेयजल योजना।

– 15 बस्तियों की 6452 आबादी को पाइपलाइन के जरिए शुद्ध पेयजल आपूर्ति।

1.70 करोड़ : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय देईपुर में छात्रावास

– आठवीं उत्तीर्ण अनुसूचित जाति, जनजाति व अल्पसंख्यक बालिकाओं को माध्यमिक स्तर की शिक्षा प्रदान करना।

1.53 करोड़ : परमानंदपुर शिवपुर में आश्रय योजना।

– 50 निराश्रितों को लू व ठंड से बचाने के लिए ठहरने की व्यवस्था।

शिलान्यास

72 करोड़ : इंटरसेप्शन डाइवर्जन आफ ड्रेन एंड ट्रीटमेंट वर्क रामनगर।

– औद्योगिक क्षेत्र व रामनगर का प्रदूषित जल गंगा में नहीं जाएगा।

20.99 करोड़: लहरतारा-बीएचयू मार्ग पर रेज्ड फुटपाथ का निर्माण।

– जाम खत्म हो जाएगा, पैदल चलने वाले राहगीरों को सहूलियत।

4.94 करोड़ : रामनगर डोमरी में हेलीपोर्ट निर्माण।

– हेलीकाप्टर से हवाई दर्शन सेवा की होगी शुरुआत।

4.44 करोड़ : ड्राइवर प्रशिक्षण केंद्र

– कुशल ड्राइवर के लिए प्रशिक्षण।

3.16 करोड़ : पड़ाव से रामनगर टेंगरा मोड़ मार्ग पर आइआरक्यूपी कार्य।

– चंदौली से मीरजापुर, सोनभद्र होते हुए बिहार तक की राह होगी सुगम।

3.24 करोड़ : सर्किट हाउस में प्रथम तल पर मीटिंग हाल का सुंदरीकरण

-अधिकारियों को योजनाओं पर मंथन करने को उपयुक्त स्थान सुलभ।

2.36 करोड़: किला कटरिया मार्ग पर आइआरक्यूपी कार्य।

– सुगम होगा यातायात।

3- वर्ष 2020 तक मिलेगी सौगात

कुल परियोजनाएं : 20

लागत : 27 हजार करोड़

3310 करोड़ : 127.4 किमी. लखनऊ से सुलतानपुर तक फोरलेन।

3000 करोड़ : 72 किमी. बनारस से गोरखपुर वाया बिरनौन तक।

2978 करोड़ : 66 किलोमीटर फोर लेन बनारस से गोरखपुर वाया मऊ।

2899 करोड़: 60 किमी. फोरलेन घाघरा ब्रिज से बनारस वाया बुढऩपुुर से गोसाईं बाजार बाईपास।

2717 करोड़ : 65 किमी फोरलेन बनारस से गोरखपुर वाया मऊ बिरनौन।

2534 करोड़ : 72.4 किलोमीटर हंडिया से राजातालाब सिक्स लेन।

2374 करोड़ : 74.53 किमी. फोरलेन सुलतानपुर से जौनपुर।

2234 करोड़ : 59 किमी. घाघरा ब्रिज से बनारस वाया गोसाईं बाजार।

2036 करोड़ : 63.4 किमी. फोरलेन जौनपुर से वाराणसी।

1671 करोड़ : 59 किमी. घाघरा ब्रिज से बनारस वाया बुढऩपुर तक।

868 करोड़ : 72 किमी बनारस से गाजीपुर राजमार्ग चौड़ीकरण।

166 करोड़ : शिवपुर लहरतारा फोरलेन सड़क निर्माण।

107 करोड़ : बीएचयू में सौ बेडेड सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल निर्माण।

72 करोड़ : शिवपुर से लहरतारा फुलवरिया मार्ग पर शिवपुर चुंगी संपार संख्या 5सी पर फोरलेन आरओबी।

54 करोड़ : शिवपुर से लहरतारा फुलवरिया मार्ग पर शिवपुर चुंगी संपार संख्या 4सी पर फोरलेन आरओबी।

53 करोड़ : पांडेयपुर में 150 बेडेड सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल।

38 करोड़ : बाबतपुर कपसेठी भदोही मार्ग पर संपार संख्या 21ए-2टी पर आरओबी।

35 करोड़ : औडि़हार सेक्शन के अंतर्गत संपार 20 पर आरओबी।

34 करोड़ : शिवपुर-लहरतारा-फुलवरिया मार्ग पर वरुणा नदी पर ब्रिज।

30 करोड़ : बीएचयू में 100 शैय्या सुपर मैटरनिटी भवन निर्माण।

26 करोड़ : कोनिया घाट वरुणा नदी पर ब्रिज निर्माण कार्य।

– 41.73 करोड़ : पं. मदन मोहन मालवीय कैंसर केंद्र का आवासीय भवन निर्माण।

– 38.13 करोड़ : हास्पिटल ईएसआइसी के आवासीय भवन, हास्टल निर्माण एवं नवीनीकरण।

– 2.46 करोड़ : 81 हेरिटेज स्थलों का विकास।

– 1.48 करोड़ : सामुदायिक शौचालय का निर्माण फेज-5।

– 312.28 करोड़ : दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत चार परियोजनाएं।

– 84.58 करोड़ : ओल्ड ट्रंक सीवर का ट्रेंचेलेस से पुनरुद्धार पैकेज-4।

– 19.08 करोड़ : कोनिया पंपिंग स्टेशन, भगवानपुर एसटीपी और पांच घाटों पर पीएसएस।

– 533.22 करोड़ : ट्रांस वरुणा क्षेत्र में सीवरेज कार्य।

– 162.83 करोड़ : ट्रांस वरुणा क्षेत्र में 50260 सीवर हाउस कनेक्टिंग चैंबर्स।

– 378.87 करोड़ : जल संपूर्ति योजना प्रायरिटी-1 की दो परियोजनाएं।

– 29.7 करोड़ : पांच जोन में 50028 पेयजल घरेलू गृह संयोजन।

– 10.3 करोड़ : नमामि गंगे योजना के तहत 26 घाटों का जीर्णोद्धार।

– 33.39 करोड़ : स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर के 16 चौराहों का उच्चीकरण।

– 10.58 करोड़: स्मार्ट सिटी मिशन के तहत कान्हा उपवन का निर्माण।

– 5.92 करोड़ : स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर के चार पार्कों का सुंदरीकरण।

– 83.66 करोड़ : स्मार्ट सिटी मिशन के तहत एबीडी क्षेत्र में सड़कों एवं आठ जंक्शन का सुधार कार्य।

– 0.67 करोड़ : स्मार्ट सिटी के तहत वाराणसी नगर के पांच ओवरहेड टैंक का सुंदरीकरण।

– 9.34 करोड़ : जायका योजना के तहत जीआइएस एवं एमआइएस का विकास कार्य।

– 186 करोड़ : अंतरराष्ट्रीय सहयोग कंवेशन सेंटर रुद्राक्ष नगर निगम मुख्यालय।

– 46.77 करोड़ : भोजूबीर-सिंधौरा मार्ग का चौड़ीकरण।

– 97.03 करोड़ : पंचकोशी परिक्रमा मार्ग का सुंदरीकरण।

– 74.62 करोड़ : बाबतपुर चौबेपुर भगतुआ बलुआ ब्रिज मार्ग का चौड़ीकरण।

– 41 करोड़ : घाटों एवं कुंडों का विकास कार्य।

– 2.51 करोड़ : अक्था में आसरा योजना के तहत आवास।

– 54.99 करोड़: नगरीय क्षेत्र में राजीव आवास योजना।

– 15.37 करोड़: श्री लाल बहादुर शास्त्री चिकित्सालय रामनगर का उच्चीकरण।

– 8.14 करोड़ : पं. दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय पांडेयपुर का उच्चीकरण।

– 3.89 करोड़: शिवपुर में अरबन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण।

– 7.77 करोड़ : श्री शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय का उच्चीकरण।

– 4.51 करोड़ : तहसील सदर अनावासीय का निर्माण।

– 1.9 करोड़ : कब्रिस्तानों व अंत्येष्टि स्थलों के चाहरदीवारी का निर्माण।

– 4.32 करोड़ : अग्निशमन केंद्र चेतगंज में प्रशासनिक एवं आवासीय भवनों का निर्माण कार्य।

– 7.69 करोड़ : सातोमहुआ में जय प्रकाश नारायण सर्वोदय विद्यालय का निर्माण।

– 2.45 करोड़: आसरा योजना सरायंडगरी , टिकरी।

– 1.18 करोड़ : आश्रय योजना सिकरौल।

– 28.7 करोड़ : न्यायालय परिसर में 16 कक्षों का निर्माण कार्य।

– 7.48 करोड़: पुलिस वाराणसी में दो सौ क्षमता का बहुमंजिला बैरक का निर्माण कार्य।

– 1.41 करोड़: राजकीय पालिटेक्निक कुरू में महिला प्राविधिक छात्रावास का निर्माण कार्य।

– 9.39 करोड़: रामनगर में राजकीय बाल गृह का निर्माण कार्य।

– 2.89 करोड़: तरसड़ा में राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय निर्माण।

– 1.45 करोड़:सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हाथीबाजार में आवासीय भवनों का निर्माण।

– 17.51 करोड़: केंद्रीय कारागार की वर्तमान मुख्य प्राचीर के बाहर नई मुख्य प्राचीर का निर्माण कार्य।

– 6.67 करोड़: केंद्रीय कारागार में बैरक का निर्माण।

– 0.81 करोड़: केंद्रीय कारागार में बाउंड्रीवाल एवं गेट सहित पाकशाला निर्माण कार्य।

– 5.16 करोड़: केंद्रीय कारागार में टाइप 2 के 48 आवासों का निर्माण।

– 10.6 करोड़: राजकीय पालिटेक्निक का निर्माण कार्य।

– 2.05 करोड़: पर्यटन एवं सिल्क कला अंतर्गत अर्बन हार्ट का पर्यटन विकास।

– 7.88 करोड़: सारनाथ में ध्वनि एवं प्रकाश शो।

– 1.4 करोड़: श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के गोयनका भवन का निर्माण।

– 14.6 करोड़: अस्सी बीएचयू दक्षिणी जोन के इंटरसेप्शन एवं डायवर्जन की योजना।

– 4.96 करोड़: महिला राजकीय वृद्ध एवं अशक्त गृह दुर्गाकुंड में थीम पार्क का निर्माण।

– 191.56 करोड़: वरुणा नदी के चैनेलाइजेशन एवं तटीय विकास कार्य।

– 1.7 करोड़ : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में छात्रावास का निर्माण।

– 1.7 करोड़: राजकीय बालिका इंटर कालेज आराजीलाइन में छात्रावास का निर्माण।

– 1.7 करोड़: प्रा.वि. कटारी चोलापुर में बालिका छात्रावास का निर्माण।

– 5.64 करोड़: आराजीलाइन परिक्षेत्र में पशुचिकित्सा पॉली क्लीनिक का निर्माण।

– 4.12 करोड़: राजकीय महिला पॉलिटेक्निक में आइटी ब्लाक, प्रधानाचार्य आवास गेस्ट एवं गार्ड रूम का निर्माण।

– 10.95 करोड़: पेयजल की चार परियोजनाएं।

– 89.62 करोड़: बीएसयूपी के तहत आवास की चार परियोजनाएं।

– 0.75 करोड़: सेवापुरी में पं. दीनदयाल उपाध्याय राजकीय महिला डिग्री कालेज का निर्माण।

– 6.27 करोड़: आइआइटी राजातालाब का निर्माण कार्य।

– 13.1 करोड़: काशी विश्वनाथ मंदिर में अन्न क्षेत्र का निर्माण कार्य।

– 149.85 करोड़: रामनगर में चार लाख लीटर पर दैनिक क्षमता का डेयरीफूड प्रोजेक्ट की स्थापना।

– 120.5 करोड़ : राजातालाब में 220 केवी विद्युत उपकेंद्र का निर्माण।

– 14.1 करोड़: बीएचयू के वैदिक विज्ञान केंद्र की स्थापना।

– 34 करोड़ : रीजनल इंस्टीट्यूट आफ आफ्थोल्मोलाजी की स्थापना। 

Loading...

Check Also

छात्रसंघ चुनाव: हरिश्चंद्र पीजी कॉलेज में कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हुआ मतदान

वाराणसी के हरिश्चंद्र पीजी कॉलेज छात्रसंघ चुनाव में आज 14 बूथों पर मतदान होगा। इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com