बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा करने वाले पंकज लांबा की गोली लगने से मौत

हरिद्वार। बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट पंकज लांबा की गोली लगने से मौत हो गई। शुक्रवार रात शुरू हुई पार्टी में उन्हीं की लाइसेंसी पिस्टल ने उन्हें मौत के मुंह में सुला दिया। दूसरे के हाथ से चली गोली सीधे उनके गले में धंस गई। यह वाकया रात तीन बजे रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के सुमन नगर एन्क्लेव में एक कार्यक्रम में हुआ। यह जानकारी पुलिस ने दी।

पुलिस के मुताबिक पंकज लांबा एक परिवार के साथ पार्टी में थे। पार्टी में लांबा परिवार की दो लड़कियां भी थीं। लांबा ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल एक परिवार की नाबालिग लड़की को दे दी। उसने अचानक फायर कर दिया। गोली पंकज के गले में लगी। सीओ सदर संजय बिश्नोई का कहना है कि रात करीब तीन बजे कुछ लोग लहूलुहान पंकज को लेकर सुमन नगर पुलिस चौकी पहुंचे। वहां से उन्हें तत्काल सरकारी हॉस्पिटल भेजा गया। उपचार के दौरान लांबा की मृत्यु हो गई। गोली कैसे चलीए किन परिस्थितियों में चलीए इसकी विवेचना पुलिस कर रही है। देहरादून से फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है।

Arnab Goswami Arrest: अर्नब गोस्वामी ने बताया अपनी जान को खतरा, मुंबई पुलिस पर लगाया पीटने का आरोप

हरिद्वार में रह रहे पंकज लांबा मूल रूप से मेरठ के रहने वाले थे। घटना की सूचना उनके परिजनों को दी गई है। पार्टी में कौन.कौन मौजूद थाए पुलिस इसका ब्यौरा जुटा रही है। हरिद्वार पहुंचे पंकज के छोटे अरुण लांबा ने आरोप लगाया है कि यह सुनियोजित तरीके से की गई हत्या है। स्थानीय पुलिस लीपापोती कर रही है। पंकज खनन माफिया के निशाने पर थे। खनन माफिया ने ही उनकी हत्या कराई है। एक.दो दिन पहले खनन माफिया से पंकज का झगड़ा हुआ था। छात्रवृत्ति घोटाले के उजागर होने से परेशान लोग भी इसमें शामिल हो सकते हैं।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 + nineteen =

Back to top button