निलंबित SSP का खुला लॉकर, करोड़ों की काली कमाई का हो रहा पर्दाफाश

- in बिहार, राज्य

मुजफ्फरपुर। निलंबित आइपीएस अधिकारी व पूर्व एसएसपी विवेक कुमार की काली कमाई का राज उनके लॉकर से खुलने लगा है। विशेष विजिलेंस इकाई (एसवीयू) ने उनकी ससुराल में छह में से दो लॉकर को खोला है, जिसमें करोड़ों के फिक्स डिपॉजिट और लाखों के मूल्य के गहने बरामद किए गए हैं।निलंबित SSP का खुला लॉकर, करोड़ों की काली कमाई का हो रहा पर्दाफाश

एसवीयू के आइजी रत्न संजय ने बताया कि एक लॉकर में पौने दो लाख के गहने व 18 लाख कैश मिले। वहीं दूसरे लॉकर में 30 लाख के गहने व एक करोड़ 65 लाख रुपये के फ़िक्स्ड डिपाजिट की रसीद मिली है। चार और लॉकर की छानबीन की जा रही। इसमें भी करोड़ों की संपत्ति मिलने का अनुमान है।

शराब से जुड़े मामलों की खंगाली जा रही फाइल 

आइपीएस अधिकारी व निलंबित एसएसपी विवेक कुमार के शराब माफिया कनेक्शन की पड़ताल शुरू कर दी गई है। एसएसपी आवास पर आज शराब से जुड़ी आधा दर्जन थानों से फाइल मंगाई गई है। इसमें बरूराज, औराई,  कटरा, काजी मोहम्मदपुर की फाइलें हैं।

विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) की छानबीन बुधवार को तीसरे दिन भी जारी है। दो दिनों तक आर्थिक मामलों को मुख्य रूप से खंगाला गया था। अब माना जा रहा कि शराब माफिया से साठगांठ के विवेक कुमार पर लग रहे आरोपों की पड़ताल होगी। टीम 50 घंटे से अधिक समय से आवास में उनसे पूछताछ कर रही।

तीसरे दिन भी जारी है छापेमारी

आर्म्स एक्ट में निलंबित किए गए मुजफ्फरपुर के एसएसपी विवेक कुमार के सरकारी आवास पर  तीसरे दिन भी छापेमारी चल रही है।बता दें कि विशेष विजिलेंस इकाई (एसवीयू) की कार्रवाई के दौरान आवास के भीतर कोई हलचल नहीं है। टीम के लिए भोजन मंगाया गया है। टीम के सभी अधिकारी बाहर से फ्रेश होकर आये और फिर से जांच में जुट गए है।

हो सकती है बड़ी कार्रवाई

कहा जा रहा है कि दोपहर तीन बजे तक एसवीयू की टीम करवाई समाप्त करेगी। आवास से अवैध आर्म्स मिलने के मामले में नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज हो सकती है। कार्बाइन समेत अन्य हथियार मिलने की बात सामने आई है। टीम के कुछ अधिकारियों के आवास से बाहर निकलने के दौरान इस संबंध में पूछताछ की गई। लेकिन, किसी ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। बताया जा रहा है कि एसएसपी विवेक कुमार के आवास पर महिला अधिकारी भी मौजूद थीं,  यह माना जा रहा कि एसएसपी की पत्नी से भी पूछताछ की गई है।

मंगाई गईं है हथकड़ियां

मंगलवार को सूचना मिली थी कि विशेष सतर्कता इकाई ने पुलिस से तीन हथकड़ियां भी मंगवा ली हैं। एसवीयू ने कल ही अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट सरकार को सौंप दिया है और अब मुख्यमंत्री के आदेश का इंतजार कर रही है।मुख्यमंत्री का आदेश मिलते ही एसएसपी की गिरफ्तारी कभी भी की जा सकती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद