एक बार फिर सीरियाई शहर पर हुआ मिसाइल हमला, वायुसेना ने किया नाकाम

सीरिया की सरकारी संवाद समिति के अनुसार सीरियाई वायु सेना ने होम्स प्रांत में अपने वायु क्षेत्र में प्रवेश करने वाली मिसाइलों को मार गिराया. सीरिया के सरकारी टेलीविजन ने घटना को आक्रामक बताया. हालांकि, इसके बारे में विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी गई. साथ ही हमले के पिछे किसका हाथ है, इसकी भी पुष्टि नहीं हो सकी है.

इजराइल का हाथ होने की थी आशंका

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मिसाइलें अज्ञात लड़ाकू विमानों द्वारा बरसाईं गई थीं जो कि लेबनान की तरफ से सीरियाई वायु क्षेत्र में प्रवेश किए थे. रिपोर्ट के अनुसार हमले के पीछे इजराइल का हाथ बताया जा रहा है.

इजराइली हमले की आशंका के बाद इजराइली सेना के प्रवक्ता ने कहा , ‘मुझे इस तरह की किसी भी घटना की कोई जानकारी नहीं है’

सीरियाई सेना ने बताया कि उन्होंने रात करीब 1:10 (स्थानीय समयानुसार) पर मिसाइलों को मार गिराया था, जो कि दक्षिण-पूर्वी होम्स के शाय’रत एयरबेस की तरफ आ रही थीं.

बीते शनिवार को अमेरिका ने दागी थी मिसाइलें

सीरिया में हुए केमिकल अटैक के बाद अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में हलचल तेज हो गई थी. विश्व के दो ताकतवर देश आमने- सामने आ गये थे. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर सीरिया पर मिसाइल हमले करने की धमकी दी थी. पश्चिमी गठबंधन के तहत फ्रांस और ब्रिटेन ने भी अमेरिका का समर्थन किया था.

मोदी स्टॉकहोम पहुंचे, स्वीडिश पीएम ने प्रोटोकॉल तोड़ एयरपोर्ट पर किया भव्य स्वागत

ट्रंप की धमकी के बाद, तीनों देशों की ओर से सीरिया पर बीते शनिवार को 103 मिसाइलें दागी गईं थीं, जिनमें से सीरिया ने 71 मिसाइलों को मार गिराया था.

ताजा हमले में नहीं है अमेरिका का हाथ

अमेरिकी रक्षा विभाग के हेडक्वार्टर, पेंटागन ने सीरिया के होम्स के पास होने वाली हरकतों में अमेरिका का हाथ ना होने की पुष्टि की है. पेंटागन के प्रवक्ता ने कहा, ‘होम्स के पास होती किसी भी गतिविधी में अमेरिका और सहयोगी देशों का कोई हाथ नहीं है. इसके अलावा हमारे पास कोई अतिरिक्त जानकारी उपलब्ध नहीं है’

दुश्मन मिसाइलों से निपटने के लिए सीरिया को S-300 मिसाइल सिस्टम देगा रूस

अब रूस ने दुश्मन मिसाइलों से निपटने के लिए सीरिया को S-300 मिसाइल सिस्टम देने की तैयारी शुरू कर दी है. इससे सीरिया को अमेरिका और उसके सहयोगी देशों के हमले को विफल करने में भी मदद मिलेगी. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राफेल डील पर फ्रांसीसी कंपनी ने दिया बड़ा बयान, कहा- सौदे के लिए रिलायंस को हमने चुना

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद