एक बार फिर बीजेपी ने विधायक बनी सीमा कुमारी पर ही जताया भरोसा, पठानकोट के भोआ से प्रत्याशी घोषित

 जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में से एक भोआ में भाजपा प्रत्याशी का नाम नहीं घोषित होने से बना असमंजस भी वीरवार को समाप्त हो गया। भाजपा ने एक बार फिर 2012 में पार्टी की टिकट पर विधायक बनी सीमा कुमारी पर ही भरोसा जताया है। वीरवार को भाजपा की ओर से घोषित की गई 27 विधानसभा हलकों के प्रत्याशियों की सूची में सीमा कुमारी को प्रत्याशी घोषित कर दिया गया।

बता दें कि सीमा कुमारी ने 2012 ने कुल 46 फीसद वोट हासिल किए थे। उन्होंने 50 हजार से अधिक मत हासिल कर कांग्रेस के प्रत्याशी बलबीर राज को हराया था। वर्ष 2017 के चुनाव में सीमा कुमारी कांग्रेस प्रत्याशी जोगिंदर लाल से चुनाव हार गईं थीं। उनका मत प्रतिश्त 46 से कम होकर 31 फीसद रह गया था। उन्हें 38 हजार वोट ही मिले थे। एक बार फिर से पार्टी ने उन पर भरोसा जताया है। इस बार भोआ विधानसभा हलके में 2017 से अधिक कड़ा मुकाबला देखा जा रहा है। आप के प्रत्याशी लाल चंद कटसारुचक्क के मैदान में होने से फिलहाल भोआ में तिकोना मुकाबला होने के आसार बने हुए हैं।

पठानकोट से चुनाव लड़ रहे हैं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा

भाजपा ने पठानकोट विधानसभा हलके से प्रदेशाध्यक्ष अश्विनी शर्मा को प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस ने एक बार फिर से मौजूदा विधायक अमित विज पर भरोसा जताया है। अकाली-बसपा गठबंधन ने एडवोकेट ज्योति पाल को जबकि आम आदमी पार्टी ने विभूति शर्मा को प्रत्याशी घोषित किया है।

सुजानपुर से लगातार चौथी बार दिनेश सिंह बब्बू मैदान में

सुजानपुर में भाजपा ने लगातार चौथी बार दिनेश सिंह बब्बू को मैदान में उतारा है। वहीं, तमाम विरोध के बावजूद कांग्रेस ने नरेश पुरी को प्रत्याशी बनाया है। उनके प्रत्याशी बनाए जाने के विरोध में कांग्रेस छोड़कर आए अमित सिंह मंटू को आम आदमी पार्टी ने अपना प्रत्याशी घोषित किया है। अकाली-बसपा गठबंधन ने भाजपा छोड़कर अकाली दल में शामिल हुए राज कुमार गुप्ता को चुनाव मैदान में उतारा है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

7 + 4 =

Back to top button