देश के 24 फर्जी विश्वविद्यालयों की UGC ने जारी की सूची, इन यूनिवर्सिटीज में न लें एडमिशन

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने 24 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची जारी की है जिनमें आठ राष्ट्रीय राजधानी में हैं। आयोग द्वारा जारी एक नोटिस में कहा गया है कि विद्यार्थियों एवं आम लोगों को सूचित किया जाता है कि फिलहाल देश के विभिन्न हिस्सों में 24 स्वयंभू और गैर पंजीकृत संस्थान यूजीसी अधिनियनम का उल्लंघन करके चल रहे हैं। 

आयोग ने कहा है कि इन विश्वविद्यालयों को फर्जी घोषित किया गया है और उन्हें कोई डिग्री प्रदान करने का हक नहीं है। दिल्ली में फर्जी विश्वविद्यालय कॉमर्शियल यूनिवर्सिटी, यूनाईटेड नेशंस यूनिवर्सिटी, वोकेशनल यूनिवर्सिटी, एडीआर – सेंट्रिक जूरिडिकल यूनिवर्सिटी, इंडियन इंस्टीट्यूशन ऑफ सांइस एंड इंजीनियरिंग, विश्वकर्मा ओपेन यूनिवर्सिटी फोर सेल्फ इम्प्लॉयमेंट, आध्यात्मिक विश्वविद्यालय और वाराणसीय संस्कृत विश्वविद्यालय हैं। 

यहां देखें पूरी लिस्ट

उत्तर प्रदेश 
महिला ग्राम विद्यापीठ/विश्वविद्यालय प्रयाग, इलाहाबाद। 
गांधी हिंदी विद्यापीठ, प्रयाग, इलाहाबाद। 
नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रोकांपलेक्स होम्योपैथी, कानपुर
नेताजी सुभाषचंद्र बोस यूनिवर्सिटी, अचलताल, अलीगढ़
उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय, कोसीकला, मथुरा 
महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन विश्वविद्यालय, प्रतापगढ़
इंद्रप्रस्थ शिक्षा परिषद, इंस्टीट्यृूशनल एरिया, खोड़ा माकनपुर, नोयडा
गुरुकुल विश्वविद्यालय, वृंदावन, मथुरा

दिल्ली 
वाराणसेय संस्कृत विश्वविद्यालय, जगतपुरी दिल्ली
कमर्शियल यूनिवर्सिटी लिमिटेड, दरियागंज दिल्ली 
यूनाइटेड नेशंस यूनिवर्सिटी दिल्ली 
वोकेशनल यूनिवर्सिटी, दिल्ली 
एडीआर सेंट्रीकन्यूरिडिकल यूनिवर्सिटी, एडीआर हाउस, राजेन्द्रनगर दिल्ली
इंडियन इंस्टीट्यूटी ऑफ साइंस एंड इंजीनियरिंंग, दिल्ली 

बिहार
मैथली विश्वविद्यालय, दरभंगा, बिहार 

कर्नाटक 
बड़ागानवीसरकार वल्र्ड ओपन यूनिवर्सिटी एजुकेशन सोसायटी गोकांक, बेलगाम

केरल
सेंट जॉन विश्वविद्यालय, कृष्णटम

मध्य प्रदेश
केसरवानी विद्यापीठ जबलपुर

महाराष्ट्र
राजा अरेबिक यूनिवर्सिटी नागपुर

तमिललाडु 
डीबीडी संस्कृत विश्वविद्यालय, पुत्तुर त्रिची, तमिलनाडु

पश्चिम बंगाल 
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आल्टरनेटिव मेडिसिन, कोलकाता 
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आल्टरनेटिव मेडिसिन एंड रिसर्च, ठाकुरपुर कोलकाता

उड़ीसा
नवभारत शिक्षा परिषद, अन्नपूर्णा भवन, शक्तिनगर, राउरकेला

एडमिशन लेने के दौरान छात्रों को सोच समझकर विश्वविद्यालय या कालेज का चुनाव करें। उनकी एक गलती से पूरा कॅरियर चौपट हो सकता है। यूजीसी हर साल फर्जी विश्वविद्यालयों को लेकर एलर्ट जारी करता है। छात्र कहीं भी एडमिशन लेने से पहले उसे एक बार देख सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ऐसे भारत से भागा था विजय माल्या: CBI ने किया खुलासा..

  सूत्रों ने कहा कि पहले सर्कुलर में