अब हिमाचल संग जल संग्राम, सीएम जयराम बाेले- पंजाब व हरियाणा से मांगेंगे रॉयल्टी

- in पंजाब, राज्य

चंडीगढ़। पंजाब और हरियाणा के बीच चल रहे जल विवाद में अब हिमाचल प्रदेश भी कूद गया है।  हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बुधवार को यहां कहा कि उनकी सरकार पंजाब और हरियाणा से पानी की रॉयल्टी मांगेगी। हिमाचल प्रदेश के नए रुख से तीनों राज्‍यों के बीच जल विवाद गर्माने की संभावना है। इसके साथ ही जयराम ठाकुर ने चीन की हिमाचल बॉर्डर के पास हलचल चिंत जताई।अब हिमाचल संग जल संग्राम, सीएम जयराम बाेले- पंजाब व हरियाणा से मांगेंगे रॉयल्टी

चीन के हिमाचल बॉर्डर तक पहुंचने से चिंतित हैं हिमाचल प्रदेश के मुख्य मंत्री जयराम ठाकुर

यहां प्रेस क्‍लब में पत्रकारों से बातचीत में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि उनकी सरकार पंजाब एवं हरियाणा से अपने पानी की रॉयल्‍टी की मांग करेगी। यह हमारा हक है। उन्होंने कहा कि यह रॉयल्टी कानूनी रूप से मांगी जाएगी। इसका अधिकार सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले में भी दिया गया है।

जयराम ठाकुर ने इस दौरान हिमाचल प्रदेश के कई मुद्दों पर बातचीत की। इाके साथ ही उन्‍होंने सीमा पर चीन की चुनौती का भी उल्‍लेख किया। उन्‍होंने कहा कि चीन के हिमाचल प्रदेश की सीमा तक पहुंच जाना राज्‍य के लिए चिंताजनक है। चीन की हलचल बढ़ने से राज्‍य के लिए खतरा पैदा हो रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार से कुल्लू मनाली होते हुए लेह लद्दाख तक रेल लाइन बिछाने की भी मांग की है। 

जयराम ठाकुर ने कहा है कि बॉर्डर इलाके को देखते हुए कांगड़ा में एयरपोर्ट के विस्तार करने की जरूरत है। इस संबंध में हिमाचल सरकार की अोर से केंद्र सरकार को प्रस्‍ताव भेजा गया था अाैर इसे स्‍वीकार कर लिया गया है। उम्‍मीद है कि इस पर जल्‍द कार्य शुरू होगा।

जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में पार्किंग की समस्या को भी स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से हिमाचल में पर्यटकों की संख्या बढ़ी है आैर इसके साथ ही पार्किंग की समस्या भी पैदा हुई है। उन्होंने कहा कि समतल इलाका कम होने के कारण इस समस्या का फिलहाल समाधान नहीं है। इसके बावजूद उनकी सरकार इस समस्या को दूर करने की दिशा में बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि एक साल के भीतर रोहतांग टनल को आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तर प्रदेश सरकार चीनी मिलों को दिलवाएगी 4,000 करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की चीनी मिलों