अब दुबई एयरपोर्ट पर रोबोट रखेंगे संदिग्धों पर नजर

 जल्द ही दुबई एयरपोर्ट पर ऐसे रोबोट तैनात किया जाएगा जो आसानी से किसी भी संदिग्ध इंसान या गतिविधि का पता लगा सकेंगा। दुबई सीमा शुल्क ने पहले ही रोबोट के कार्यान्वयन के लिए पायलट चरण का उपयोग किया है। इस रोबोट को मुख्य रूप से हवाई अड्डे के आगमन खंड पर रखा जाएगा, जिससे यह एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों पर पैनी नजर रख सकेगा।

दुबई कस्टम के नवपरिवर्तन केन्द्र के विशेषज्ञ खालिद अल ज़रूनी ने कहा कि रोबोट उनकी टीम द्वारा सर्वश्रेष्ठ इनोवेशन में से एक है। यह एक एन्ड्रॉयड सिस्टम है। यह अभी भी पूरी तरह कार्यान्वित नहीं हुआ है, लेकिन इस एयरपोर्ट के चारों ओर पायलटिंग के जरिए चलाया गया है। उन्होंने खलीज टाइम्स से बात करते हुए बताया कि यह संभवत हमारा सर्वश्रेष्ठ इनोवेशन होने वाला है, जब इसे पूर्ण रूप से लागू किया जाएगा। एंड्रॉइड में मस्तिष्क में बहुत सारी विशेषताएं हैं। इन रोबोट में चेहरे की पहचान के लि एक्स-रे स्कैनिंग और थर्मल विजन जैसे टूल्स लगे हुए हैं।

रोबोट का कार्य-

ट्रूडो ने देश पहुंच कर भारत के खिलाफ दिया ये बड़ा बयान, कहा…

खालिद ने बताया कि यह अपने टूल्स की मदद से डेटा एकत्र करता है और इसे एक खतरे के आकलन में संकलित करता है और फिर यह नियंत्रण कक्ष को अलर्ट कर देता है। जब रोबोट को अपनी जांच में पता चलता है कि कोई खतरा नहीं हो तो यह यह हवाई अड्डे पर यात्रियों का स्वागत करता है।

स्मार्ट वाहन-

खालिद अल ज़रूनी ने बताया कि दुबई सीमा शुल्क मंच पर फोटो गैलरी के माध्यम से कुल 10 सर्वोत्तम प्रदर्शनों को प्रदर्शित कर रहे थे। इसमें एक स्मार्ट वाहन भी शामिल किया गया है। इस वाहन को लोगों की विशेष जरुरतों को पूरा करने के लिए बनाया गया है।अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस के साथ सहयोग में यह कॉल में है। वे हमें बताते हैं कि लोगों की विशेष आवश्यकताएं कौन सी हैं, या तो हम उनके पास जाते हैं या वे हमें कॉल करते हैं। ऐसे तीन वाहन एयरपोर्ट पर होंगे।

मोबाइल निरीक्षण वाहन-

खालिद कहा कि दुबई सीमा शुल्क द्वारा मोबाइल निरीक्षण वाहन को भी प्रदर्शित किया गया। यह एक चेहरा पहचाने का स्कैनर है, जो इंटरपोल से जुड़ा हुआ है। यह किसी के भी चेहरे के भाव को स्वचालित रूप से उठाता है और नियंत्रण कक्ष को सूचित करता है। जब उनसे पूछा गया कि क्या लोगों को पकड़ने में चेहरा पहचान स्कैनर सफल रहा है, अल ज़रूनी ने कहा कि आपको आश्चर्य होगा कि दुबई के माध्यम से कौन-कौन आता है।

रोबोट की विशेषताएं-

-रोबोट एक एंड्रॉयड सिस्टम पर आधारित है। इसके मस्तिष्क में एक्स-रे स्कैनिंग और थर्मल विजन लगाएं गए हैं। इनकी मदद से वह चेहरे की पहचान कर सकता है।

-यह संदिग्ध लोगों और गतिविधियों का पता लगाकर उससे नियंत्रण कक्ष को अलर्ट करता है।

-कोई खतरा ना होने पर यह एयरपोर्ट पर यात्रियों का स्वागत और गाइड करता है।

-दुबई सीमा शुल्क ने इसके कार्यान्वयन के लिए एक पायलट चरण पहले से ही किया है

-यह क्रियान्वित होने पर सर्वश्रेष्ट इनोवेशेन में से एक हो सकता है।

You may also like

राफेल डील पर फ्रांसीसी कंपनी ने दिया बड़ा बयान, कहा- सौदे के लिए रिलायंस को हमने चुना

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद