मां व भाई को नहीं थी शादी मंजूर, युवती ने प्रेमी संग किया ये काम

समालखा (पानीपत)। एक युवती की मां और भाई ने हथियारबंद युवकों द्वारा उसको अगवा करने की पुलिस को शिकायत दी। उन्‍हाेंने कहा कि छह-सात युवक उसे कार में उठाकर ले गए। इस दौरान उन्‍होंने फायरिंग भी की। इससे पुलिस में हड़कंप मच गया, लेकिन जांच में असलियत सामने आई तो सभी ताजुब्‍ब में रह गए।  युवती ने अपने प्रेमी के संग शादी कर ली थी। युवती प्रेमी के साथ रहना चाहती थी, लेकिन परिवार वाले इसके लिए राजी नहीं थे। इसके बाद युवती ने फाेन कर प्रेमी को बुलाया और उसके साथ कार में चली गई।मां व भाई को नहीं थी शादी मंजूर, युवती ने प्रेमी संग किया ये काम

दरअसल, युवती पिछले दिनों घर से बहाना बनाकर चली गई और दिल्‍ली में जाकर युवक से प्रेम विवाह कर लिया। उसकी मां व भाई को यह शादी मंजूर नहीं थी और वे उसे प्रेमी के साथ जाने देने को तैयार नहीं थे। युवी किसी कीमत पर अपने प्रेमी के साथ रहना चाहती थी। जब मां और भाई नहीं माने तो उसने अपने प्रेमी को उसे ले जाने को कहा।

मंगलवार को मां व भाई के साथ खेत से लौटते समय वह और उसका प्रेमी धक्का मुक्की कर कार में बैठकर चले गए। बाद में सोनीपत कोर्ट में पहुंचकर परिजनों से जान के खतरे की आशंका जताते हुए सुरक्षा की मांग की। सोनीपत कोर्ट ने एसपी सोनीपत व पानीपत के अलावा थाना प्रभारी बापौली व मुहाना को 17 अप्रैल के लिए नोटिस जारी किया है।

उधर, युवती की मां और भाई ने उसके अपहरण की शिकायत पुलिस को दे दी।  दिनदहाड़े अपहरण की सूचना के बाद पूरा पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया। बाद में जब असलियत सामने आई तो सभी दंग रह गए। पानीपत जिले के बिहोली गांव के रोहित ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि मंगलवार सुबह वह अपनी मां सुनीता व बहन प्रियंका के साथ खेत से झोटा बुग्गी में घर लौट रहा था। इसी दौरान कार में छह-सात हथियारबंद युवक आए और उसके साथ मारपीट करने लगे।

रोहित ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि हमलावरों ने दो फायर भी किए, लेकिन वह बच गया। उसकी मां ने विरोध किया तो उसे धक्का देकर बुग्गी से नीचे गिरा दिया। इसके बाद वे प्रियंका को अगवा कर ले गए। इसके बाद डीएसपी नरेश अहलावत, बापौली थाना प्रभारी सुभाष कुमार व सीआइए की टीमें तुरंत मौके पर पहुंचीं। युवती की मां व भाई से पूछताछ के बाद केस दर्ज कर पुलिस अपहर्ताओं की तलाश में जुट गई। शक के आधार पर गांव के एक व्यक्ति को हिरासत में भी ले लिया गया।

डीएसपी नरेश अहलावत ने बताया कि जांच में पता चला कि रोहित की बहन प्रियंका ने रिश्तेदारी में ही सोनीपत के गांव चटिया वासी प्रदीप से इसी साल 30 जनवरी को नई दिल्‍ली के आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली थी। उसकी मां व भाई को उनकी शादी मंजूर नहीं थी, जबकि प्रियंका किसी भी हालत में प्रदीप के साथ ही रहना चाहती थी।

मां और भाई शादी को मानने के लिए तैयार नहीं हुए तो प्रियंका ने फोन कर प्रदीप काे उसे वहां से ले जाने को कहा। प्रदीप मंगलवार सुबह साथियों के संग पहुंचा और खेत से मां व भाई के साथ लौट रही प्रियंका को ले जाने लगा। इसका मां ने विरोध किया तो उन्होंने उसे धक्का दिया, जिससे वह गिर गई। इसके बाद वह प्रियंका को कार में लेकर चला गया। इस दौरान फायरिंग जैसी कोई घटना नहीं हुई है। बाद में प्रियंका और प्रदीप ने सोनीपत कोर्ट में सुरक्षा के लिए अर्जी लगा दी।

सहेली की शादी में जाने की बात कह खुद की थी शादी

पुलिस के मुताबिक, रिश्तेदारी में होने के कारण प्रदीप का प्रियंका के घर पर आना जाना था। इसी बीच दोनों के बीच प्रेम प्रसंग हुआ। दोनों का प्यार आगे बढ़ा तो उन्होंने शादी करने का मन बनाया। प्रियंका परिवार वालों को सहेली की शादी में जाने की बात कहकर घर से गई। वह प्रदीप के साथ 30 जनवरी को दिल्ली स्थित आर्य समाज मंदिर पहुंची और शादी कर ली।

बदनामी से बचने के लिए झूठी सूचना

बापौली थाना प्रभारी सुभाष ने बताया कि प्रियंका द्वारा प्रदीप के साथ शादी करने का पता उसके भाई व मां को कुछ दिन बाद ही लग गया था। गांव में उनकी बदनामी न हो और जमीन विवाद मामले में दूसरे पक्ष पर दबाव बनाया जा सके, इसलिए मां व बेटे ने प्रियंका के अपहरण की शिकायत दी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button