MCD चुनाव में जीत के लिए कांग्रेस का दांव, 7 मार्च को राहुल की बड़ी रैली

नई दिल्ली। पिछले साल हुए दिल्ली नगर निगम (MCD) के 13 वार्डों में हुए उपचुनाव में जीत से उत्साहित कांग्रेस पार्टी अप्रैल में होने वाले चुनाव की तैयारी में शिद्दत से जुट गई है। उपचुनाव में 13 में से 5 सीटों पर धमाकेदार जीत दर्ज करने वाली कांग्रेस ने तैयारी के मद्देनजर पूरी तरह जुट गई है। इसी कड़ी में अगले महीने 7 मार्च को रामलीला मैदान में बड़ी रैली का आयोजन किया गया है।MCD चुनाव में जीत के लिए कांग्रेस का दांव, 7 मार्च को राहुल की बड़ी रैली - See more at: http://www.jagran.com/delhi/new-delhi-city-ncr-cong-campaign-from-mar-7-for-mcd-election2017-15610677.html#sthash.KAFpk7FX.dpuf

इस रैली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी हिस्सा लेंगे। इसमें एक लाख लोगों को शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है। इस बाबत दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (DPCC) ने कैंपनिंग की शुरुआत भी कर दी है। MCD चुनाव को लेकर कांग्रेस की सक्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि DPCC अध्यक्ष अजय माकन ने इस बाबत आगामी सोमवार शाम को एक बैठक भी बुलाई है। इसमें MCD चुनाव की तैयारी को लेकर चर्चा की जाएगी, साथ ही रोडमैप भी तैयार किया जाएगा।

अजय माकन के मुताबिक, हमने लोगों से जुड़ने के लिए डोर-टु-डोर कैंपेन की शुरुआत कर दी है। इसका हमें जबरदस्त समर्थन भी मिल रहा है। हमने पार्टी के सभी पार्टी कार्यकर्ताओं के अलावा, ब्लॉक और जिला अध्यक्षों आदेश दिया है कि 7 मार्च को होने वाली रैली के मद्देनजर वह पुख्ता प्रयास करें।

राजनीति विश्लेषकों की मानें तो MCD का चुनावी दंगल जीतना कांग्रेस के लिए उतना ही जरूरी है, जितना मझधार में डूबते हुए के लिए तिनके का सहारा जरूरी होता है। कांग्रेस पिछले साल मई महीने में हुए 13 MCD वार्डों के लिए उपचुनाव में जीत से भी उत्साहित है, जिसमें कांग्रेस ने भाजपा और आप को पछाड़ते हुए पांच सीटों पर जीत दर्ज की है।

अजय माकन का मानना है कि MCD उपचुनाव में लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट और समर्थन दिया था। इसका अर्थ यह हुआ कि लोग भी एमसीडी में सत्तासीन भाजपा से परेशान हैं। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि हमें पूरी उम्मीद है कि पार्टी तीन नगर निगमों में बहुमत में आएगी। 

अप्रैल में होने वाले एमसीडी चुनावों के मद्देनजर दिल्ली कांग्रेस इस बार कोई चूक नहीं करना चाहती। पार्टी पूरी तरह चुनावी मोड में नजर आ रही है। कांग्रेस ने उम्मीदवारों की दावेदारी के लिए आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन के मुताबिक इस बार जमीनी कार्यकर्ताओं के फीडबैक के आधार पर ही टिकट बांटे जाएंगे।

अजय माकन का दावा है कि तीनों नगर निगमों के चुनाव के मद्देनजर चुनाव लड़ने के लिए 10 हजार से अधिक उम्मीदवारों को आवेदन आए हैं। इस बाबत हमने उम्मीदवारों के चयन के लिए नियम तय किया है। जो भी उम्मीदवार कांग्रेस पार्टी से चुनाव लड़ना चाहता है उसे प्रत्येक बूथ से पांच कार्यकर्ताओं के अनुमोदन का हवाला देना होगा। वर्तमान में हमें प्रत्येक उम्मीदवार के करीब 250 अनुमोदन हैं। ऐसे में हम उन्हीं उम्मीदवारों का प्रार्थना पत्र स्वीकार कर रहे हैं, जिन्होंने 250 अनुमोदन दिए हैं।

MCD चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी ने एक कॉल सेंटर का भी गठन किया है, जो इन उम्मीदवारों के आवेदनों की जांच पड़ताल करेगा। इसका मकसद यह है कि कोई फर्जी अनुमोदन न दे सके।  

जानें क्यों उत्साहित है कांग्रेस

दरअसल 2012 के एमसीडी चुनावों में 69 सीटें और 2015 के विधानसभा चुनावों में खाता भी नहीं खोल सकने वाली कांग्रेस में एमसीडी जीतने की ललक साफ दिखाई दे रही है। एक वजह ये भी है कि दिल्ली कांग्रेस ने हाल ही में उपचुनाव के 13 वार्डों में से 5 पर अच्छे अंतर से जीत हासिल की थी। लिहाजा, इस जीत में दिल्ली कांग्रेस का हौसला बुलंद है।

यह होगा कांग्रेस का नारा

एमसीडी चुनावों के लिए कांग्रेस का नारा होगा ‘टूट गई विकास की डोर, वापस चलो कांग्रेस की ओर’ रहेगा. टिकटों का बंटवारा चुनाव की तारीखों से 40 दिन पहले ही कर लिया जाएगा।

तीस जनवरी को एमसीडी के 10 वर्षों के खिलाफ और 31 जनवरी को केजरीवाल सरकार के 2 वर्षों के खिलाफ चार्जशीट ला चुकी है। इस बार का चुनाव प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन की संगठन क्षमता की परीक्षा भी लेगा।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button