मायावती और यूपी की दलित विरोधी बीजेपी ने आपस में समझौता कर लिया: कांग्रेस

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने यूपी सरकार पर आरोप लगाया है कि राज्य में दलितों के खिलाफ होने वाले हिंसा के मामले बढ़े हैं. कांग्रेस ने राज्य में बढ़ रही हिंसाओं का भी जिक्र किया है.

रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार में दलित समाज पर राज्य संरक्षण में हमले बढ़े हैं. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि अयोध्या में बाल कटवाने गए एक दलित युवक की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर दी गई.

पीएल पुनिया ने कहा कि कन्नौज में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद सुब्रत पाठक ने तहसीलदार अरविंद कुमार के घर में घुसकर मारपीट की, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई.

रामपुर में एक सफाईकर्मी के साथ 5 लोगों ने मारपीट कर उसके मुंह में सैनिटाइजर का कैमिकल घोल डाल दिया, जिससे वह बेहोश हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई.

लखीमपुर की घटना का जिक्र करते हुए कहा, ‘लखीमपुर में गुड़गांव से अपने गांव लौटे दलित युवक को पुलिसकर्मी ने इतना बेरहमी से मारा कि उसने खुदकुशी कर ली.

आजमगढ़ में दबंगों द्वारा दलित मजदूर की हत्या के बाद परिवार को लाश दे आए और फिर धमकाते हुए बोले-कानूनी कार्रवाई करोगे तो आपका भी वहीं हाल होगा जो उसका हुआ.’

कांग्रेस ने पीएल पुनिया ने मैनपुरी का जिक्र करते हुए कहा कि यूपी के मैनपुरी में दलित परिवार के साथ मारपीट की गई. उन्होंने कहा, ‘मथुरा में दबंगों के द्वारा दलित परिवार के साथ मारपीट और हत्या की कोशिश की गई. इसके बाद भी पुलिस दबंगों को संरक्षण देकर उल्टा दलित पीड़ित पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है.’

कांग्रेस ने कहा, ‘यूपी के सिकंदराबाद में दबंगों ने वाल्मीकि समाज के एक युवक को बेरहमी से बांधकर मारा, जिसके कारण अस्पताल में युवक ने दम तोड़ दिया. हमीरपुर में महिला के साथ मारपीट की गई थी. पुलिस कार्यवाही करने को तैयार नहीं थी, उल्टा समझौता के लिए दबाव बना रही थी.’

कन्नौज की घटना का जिक्र करते हुए पीएल पुनिया ने कहा, ‘हाल ही में कन्नौज में वाल्मिकी समाज की 9वीं कक्षा की छात्रा के साथ दुष्कर्म किया गया और धमकी दी गई, जिससे आहत होकर छात्रा ने आत्महत्या कर ली.

उन्होंने कहा कि लम्बी लिस्ट है और यह सब सरकारी संरक्षण में हो रहा है. हमने लगातार यह सवाल उठाया है और लड़ रहे हैं. लेकिन स्वघोषित दलितों की नेता मायावती जी की चुप्पी क्या साबित करती है.’

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बृजलाल खाबरी ने कहा कि योगी सरकार में दलित समाज पर हमला बढ़ा है लेकिन बहन मायावती जी के मुंह से एक शब्द नहीं निकलता है. प्रदेश में दलितों-वंचितों के खिलाफ हो रहे उत्पीड़न पर मायावती जी क्यों नहीं बोलती हैं?

बृजलाल खाबरी ने मायावती पर भी निशाना साधा. खाबरी ने कहा, ‘मायावती और दलित विरोधी बीजेपी के अंदरखाने समझौता हो गया है. मायावती बीजेपी की अघोषित प्रवक्ता हैं.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ चेयरमैन आलोक प्रसाद ने कहा कि पूरे प्रदेश में हम सेवा कर रहे हैं. बाहर से लौट रहे प्रवासी मजदूर भाइयों के लिए कांग्रेस पार्टी 40 जगहों पर स्टॉल्स लगाकर नाश्ता वितरित कर रही है. 22 जिलों में हम रसोईघर चला रहे हैं. 67 लाख लोगों तक हमने मदद पहुंचाई है.

उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष को जनसेवा करने के कारण जेल में डाल दिया गया है. कई नेताओं के ऊपर फर्जी मुकदमे किए गए हैं. योगी आदित्यनाथ कान खोलकर सुन लीजिए कि आपका दमन हमारी सेवा को नहीं रोक सकता है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button