15 अगस्त से लागू हो सकती है आयुष्मान भारत स्कीम, ऐसे उठाये लाभ

- in राष्ट्रीय

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के आम बजट में ‘आयुष्मान भारत योजना’ शुरू करने की घोषणा की थी. इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों के 50 करोड़ लोगों को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा दिया जाएगा. इस योजना ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के लिए 2008 में पेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा की जगह ली है, जिसमें 30,000 रुपये का सालाना बीमा कवर दिया गया था. इस योजना को ‘मोदी केयर’ का नाम भी दिया गया है.

सरकार इस योजना को 15 अगस्त से लागू करने की तैयारी में है. इसे लेकर पिछले हफ्ते स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने एक बैठक की थी. इसमें प्रीमियम और पॉलिसी की शर्तों को लेकर चर्चा की गई. रोल आउट को लेकर कंपनियों से सुझाव भी मांगे गए. क्या बीमारियां कवर में शामिल हों इस पर भी विस्तार से चर्चा की गई.

अभी-अभी: मौत के 3 दिन बाद मिला श्रीदेवी का पार्थिव शरीर दुबई से भारत लाने की इजाजत

ऐसे उठा सकेंगे इस योजना का लाभ

मरीज को अस्पताल में भर्ती होने के बाद अपने बीमा दस्तावेज देने होंगे, जिसके आधार पर अस्पताल इलाज के खर्च के बारे में बीमा कंपनी को सूचित कर देगा और बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पुष्टि होते ही इलाज बिना पैसे दिये हो सकेगा.

क्या है आयुष्मान भारत स्कीम?
केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के आम बजट में ‘आयुष्मान भारत योजना’ शुरू करने की घोषणा की थी. इस योजना के तहत सभी को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. इस महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के तहत प्रति वर्ष 10 करोड़ गरीब परिवार को उन्नत इलाज के लिए 5-5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा. आयुष्मान भारत को राज्य और केंद्र सरकार मिलकर लागू करेंगे. इस योजना के तहत सामान्य राज्यों में 60% प्रीमियम केंद्र, 40% राज्य सरकार भरेगी.
 
 
 
 

You may also like

आधार की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट बुधवार को आधार की वैधता पर