Home > धर्म > आज से खत्म हुई शनि की साढ़ेसाती, अब इन 2 राशियों को मिलेंगी अपार खुशियां

आज से खत्म हुई शनि की साढ़ेसाती, अब इन 2 राशियों को मिलेंगी अपार खुशियां

हिन्दू धर्म में शनिदेव को न्यायाधीश कहा जाता है. कहा जाता है कि व्यक्ति के जीवन में जो भी अच्छे या बुरे काम होते हैं, वो सब शनिदेव की वजह से ही होते हैं, इसलिए बहुत बार ये देखा गया है कि कभी-कभी कोई मुश्किल काम चुटकियों में हो जाता है और कभी-कभी आसान कम भी बहुत मेहनत करने के बाद भी नहीं हो पाता. अगर आपकी राशि में शनि का गोचर बारहवें भाग में है तो इसका मतलब आपकी राशि में शनि की साढ़ेसाती चल रही है. जब शनि चंद्र के दूसरे भाव से निकल जाता है, तो साढ़ेसाती खत्म हो जाती है और उस समय इंसान के जीवन में अपार खुशियों का संचार होता है|

शनै चाल से चलने के कारण शनिदेव को शनिश्चर भी कहा जाता है। जब शनिदेव जन्म राशि से बारहवें, पहले या दूसरे स्थान पर आ जाते हैं तो जातक पर साढ़े साती की शुरुआत हो जाती है जो साढ़े सात वर्षों तक चलती है। शनिदेव गोचर से बारहवें स्थान पर होने से सिर पर, जन्म राशि में होने पर हृदय पर तथा दूसरे स्थान में होने पर पैरों पर उतरते हुए अपना प्रभाव डालते हैं। जन्म राशि से चौथे अथवा आठवें स्थान में शनिदेव के आने पर ढैया होती है जो ढाई वर्षों तक चलती है। शनिदेव के अशुभ ग्रहों से युत या दृष्ट होने या नीचस्थ होने के कारण जातक को शनिदेव की साढ़े साती या ढैया की अवधि में शारीरिक या मानसिक कष्ट, रोग, कलह, धनाभाव, अपमान, दु:ख, अवनति जैसी विभिन्न समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

जातक द्वारा किए गए पाप कर्मों के लिए शनिदेव समय आने पर दंड देते हैं। शनिदेव के प्रकोप से बचने के लिए ज्योतिष शास्त्र में बहुत से उपाय दिए गए हैं जिनमें हनुमान जी की उपासना, शनि चालीसा का पाठ, महामृत्युंजय मंत्र का जप, शनि अष्टक का पाठ, सूर्य देव की उपासना, पीपल के वृक्ष का पूजन, काले घोड़े की नाल वाली अंगूठी धारण करना आदि प्रमुख हैं। शनिदेव से संबंधित मंत्र ऊँ प्रां प्री प्रौ स: शनये नम: का एक, पांच या ग्यारह माला जप प्रतिदिन करने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

दो राशियाँ पर शनि की साढ़ेसाती खत्म हो हो गई है जिससे इन्हें अपार खुशियाँ मिलने के योग बन रहे हैं. तो चलिए आपको बताते हैं कौन है वो 2 खुशनसीब राशि वाले लोग जिनकी किस्मत चमकने वाली है.

ये हैं वो 2 राशियाँ जिनपर ख़त्म हुई शनि की साढ़ेसाती

वृषभ राशि
वृषभ राशि की साढ़ेसाती खत्म हो चुकी है इसलिए इस राशि के लोगों को लाभ होने का योग बन रहा है लेकिन आप किसी बात को लेकर दुविधा में पड़ सकते हैं. व्यवसाय में सफलता मिलेगी. शनि की कृपा से आपको धन का लाभ होगा. घर परिवार में ख़ुशी का माहौल रहेगा.

धनु राशि
धनु राशि में भी शनि चंद्र राशि के दूसरे भाव से निकल गया है. सामाजिक सम्मान मिलेगा|इस राशि के लोगों के जीवन में अपार खुशियां आएगी. कही से धन मिलने की संभावना है. कुल मिलाकर धनु राशि के जातकों पर शनि देव का आशीर्वाद रहेगा.

Loading...

Check Also

मात्र 5 मिनट में ऐसे पता करें, आपके घर में कोई बुरी आत्मा है या नहीं

घर में नकारात्मक ऊर्जा होने से बहुत नुकसान होते हैं और सब कुछ बुरा होता …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com