आप MLA ने बयां किया अपना दर्द, बोले-कम सैलरी के कारण नहीं हो पा रही है कई विधायकों की शादियां

- in दिल्ली

आम आदमी पार्टी के करोलबाग से विधायक विशेष रवि ने शुक्रवार को विधानसभा में वेतन का मुद्दा जोरशोर से उठाया। उन्होंने इसके लिए दलील दी कि कम वेतन के कारण आम आदमी पार्टी के कई विधायकों की शादी नहीं हो पा रही है। यहां तक कि घर चलाना भी मुश्किल हो रहा है। आप MLA ने बयां किया अपना दर्द, बोले-कम सैलरी के कारण नहीं हो पा रही है कई विधायकों की शादियां

आप विधायक ने कहा कि 12 हजार की सैलरी (बेसिक) का पता चलते ही कई बार रिश्ते वाले लौट जाते हैं। हालांकि, विधायकों का बेसिक सैलरी और कई भत्तों सहित मासिक वेतन 88 हजार रुपये बैठता है। इस मामले को लेकर दिल्ली सरकार का कहना है कि विधायकों के वेतन का मसौदा केंद्र सरकार के पास लटका हुआ है। इसके लिए विधानसभा ने उप मुख्यमंत्री की अगुवाई में एक विशेष टीम का गठन किया है, जो वेतन बढ़ोतरी के प्रस्ताव को आगे बढ़वाने का प्रयास करेगी। 

अदालत भी हैरत में : इस बारे में 34 वर्षीय आप विधायक विशेष रवि ने कहा कि अभी विधायकों का बेसिक वेतन 12 हजार रुपये है। इतने कम वेतन पर अदालतों को भी यकीन नहीं हो रहा है। एक मामले में विधायक मनोज कुमार और दिनेश मोहनिया को अदालत को अपनी सैलरी स्लिप जमा करानी पड़ी है। विशेष रवि ने बताया कि दो साल से लोगों को पता कि हमें 2 से 2.5 लाख रुपये वेतन मिल रहा है। मगर हकीकत यह है कि अब तक बढ़े हुए वेतन को केंद्र सरकार ने मंजूरी नहीं दी है। इसके उलट सांसदों का वेतन हाल ही में बढ़ाया गया। 

वर्जन 
वेतन कम होने की वजह से कुंवारे विधायकों के लिए रिश्ते नहीं आ रहे हैं। केंद्र को भेजे गए प्रस्ताव में दिल्ली सरकार विधायकों का वेतन बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये करने की सिफारिश पहले ही कर चुकी है।
विशेष रवि, आप विधायक, करोलबाग  

वेतन बढ़ोतरी के मामले को लेकर सदन के नेता ने हर स्तर पर विधायकों का पक्ष रखा है। भाजपा इसमें सहयोग करेगी तो आसानी से यह काम हो जाएगा।

देश में सबसे अधिक वेतन पाने वाले विधायक बन जाएंगे!

बीते दिनों दिल्ली विधानसभा ने विधायकों का वेतन बढ़ाने संबंध प्रस्ताव पारित किया था। यह प्रस्ताव फिलहाल केंद्र सरकार के पास विचाराधीन है। विशेषज्ञों का कहना है कि प्रस्ताव पारित होने के बाद दिल्ली के विधायकों के वेतन में लगभग ढाई गुणा से अधिक की वृद्धि हो जाएगी और वे देश में सबसे अधिक वेतन पाने वाले विधायक बन जाएंगे। इस प्रस्ताव की खास बात यह है कि इनमें हर साल विधायकों की बेसिक सैलरी में भी दस प्रतिशत वृद्धि करने का प्रावधान है। प्रस्ताव 

दिल्ली में विधायकों का वेतनमान 

                               वर्तमान वेतन                   बढ़ोतरी के बाद वेतन 
विधायक                    88 हजार रुपये           2.10 लाख रुपये (लगभग)    
मंत्री/स्पीकर/              1.20 लाख            3.67 लाख (लगभग)
डिप्टी स्पीकर
नेता विपक्ष 

वेतन का गणित 

फिलहाल दिल्ली के विधायकों को 12 हजार रुपये का बेसिक वेतन मिलता है, जिनमें भत्ते मिलकर यह लगभग 88 हजार रुपये प्रतिमाह हो जाता है
मंत्री, स्पीकर, डिप्टी स्पीकर और नेता विपक्ष के पद पर रहने वाले विधायकों को प्रतिमाह भत्तों सहित लगभग एक लाख 20 हजार रुपये वेतन मिलता है
इसके अलावा मंत्रियों को अपने स्टाफ के वेतन के लिए भी करीब 30 हजार रुपये महीना दिए जाते हैं  
विधायकों की बेसिक सैलरी 50 हजार और मंत्रियों, स्पीकर, डिप्टी स्पीकर तथा नेता विपक्ष के पद पर रहने वाले विधायकों की बेसिक सैलरी लगभग 80 हजार रुपये करने का प्रस्ताव है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आयुष्मान भारत योजना को लेकर केंद्रीय मंत्री ने केजरीवाल पर साधा निशाना

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री