LED बिजनेस के लिए सरकार देगी सपोर्ट, ट्रेनिंग से लेकर लोन तक की सुविधा

led-business_1442591205नई दिल्‍ली। मोदी सरकार ने बिजली की बचत करने के इरादे से एलईडी बल्‍ब का इस्‍तेमाल बढ़ाने के लिए एक नया प्‍लान तैयार किया है। सरकार एलर्इडी कारोबार को बढ़ाना चाहती है। साथ ही, अधिक से अधिक लोगों को इस कारोबार से जोड़ना चाहती है। सरकार ने इसकी जिम्‍मेवारी माइक्रो, स्‍माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज (एमएसएमई) मंत्रालय को सौंपी है। इसके लिए मंत्रालय ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है।
 
कॉमन प्‍लेटफॉर्म से जुड़ेंगे कारोबारी
 
एमएमएमई मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि देश में एलईडी कारोबार को बढ़ावा देने के लिए एक व्‍यापक रूपरेखा तैयार की जा रही है। इसके लिए सबसे पहले एलईडी मैन्‍युफैक्‍चरर्स, ट्रेडर्स, सप्‍लायर्स और एक्‍सपोर्ट्स की पहचान कर उनकी लिस्‍ट बनाई जा रही है। इसके बाद इन सभी कारोबारियों को एक प्‍लेटफॉर्म से जोड़ा जाएगा। इसके साथ ही नए कारोबारियों को भी एलईडी कारोबार करने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।
 
दिसंबर में होगी शुरुआत
 
मंत्रालय की ओर से सबसे पहले दिसंबर में वेंडर डेवलपमेंट प्रोग्राम के आयोजन किया जाएगा। प्रोग्राम की जिम्‍मेवारी एमएसएमई डेवलपमेंट इंस्‍टीट्यूट, नई दिल्‍ली को सौंपी गई है। इस प्रोग्राम में एलईडी मैन्‍युफैक्‍चरर्स, ट्रेडर्स, सप्‍लायर्स और एक्‍सपोर्ट्स शामिल होंगे, जो अपना अपना कारोबार बढ़ाने के लिए एक-दूसरे से संवाद स्‍थापित करेंगे।
 
सरकारी स्‍पोर्ट की जानकारी
 
इस प्रोग्राम में एमएसएमई मंत्रालय के अलावा ऊर्जा मंत्रालय, स्किल डेवलपमेंट मिनिस्‍ट्री सहित अन्‍य मंत्रालय और विभाग भी शामिल होंगे। इस दौरान कारोबार को बढ़ाने वाली सरकार की स्‍कीम व सब्सिडी की जानकारी दी जाएगी। इसमें कारोबार करने की तरीके भी बताए जाएंगे और एलईडी कारोबार को सरकार कैसे स्पोर्ट कर सकती है, इसकी जानकारी दी जाएगी। एनर्जी कंजर्वेशन के लिए सरकार की ओर से कई स्‍कीम चलाई जा रही है, जिसका फायदा एलईडी कारोबारी उठा सकते हैं।
लोन, फाइनेंस की सुविधा
 
मंत्रालय के अधिकारी बताते हैं कि बैंकों व वित्‍तीय संस्‍थानों को भी प्रोग्राम में शामिल किया जाएगा, ताकि जो कारोबारी लोन लेना चाहता है, वह सीधे बैंकों से संपर्क स्‍थापित कर सकता है। इसी दौरान सरकार की वित्‍त संबंधी जानकारियों से भी कारोबारियों को अवगत कराया जाएगा। इस दौरान मंत्रालय का ध्‍यान नए कारोबारियों को आकर्षित करना होगा, जो एलईडी काराेबार शुरू करना चाहते हैं। उनके लिए कार्यक्रम के दौरान विशेष ट्रेनिंग का इंतजाम किया जाएगा।
 
तो सस्‍ते मिलेंगे एलईडी बल्‍ब
 
वर्ष 2019 तक 24 घंटे बिजली देने का वादा पूरा करने के लिए मोदी सरकार जहां बिजली उत्‍पादन और ट्रांसमिशन की ओर ध्‍यान दे रही है, वहीं बिजली की बचत करके भी इस टारगेट को पाना चाहती है। इसके लिए सरकार की कोशिश है कि देश में अधिक से अधिक एलईडी बल्‍ब का इस्‍तेमाल किया जाए। यही वजह है कि इस कारोबार को बढ़ा कर सरकार कारोबारियों के बीच कंपटीशन पैदा करना चाहती है, ताकि अभी जो एलईडी बल्‍ब 300 रुपये के मिल रहे हैं। उनकी कीमत खुले बाजार में कम से कम हो जाए। सरकार का दावा है कि आने वाले दिनों में एलईडी बल्‍ब की कीमत 40 रुपए के आसपास पहुंच जाएगी।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button