जानें क्यों सीएम योगी बोलें- ढाई साल का बच्चा टोपी पहने व्यक्ति को समझता है गुंडा…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण पर विधानसभा में बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी बेहद सरल व्यक्ति हैं, लेकिन ग़लत पार्टी में होने के कारण कभी-कभी भटक जाते हैं.

सीएम योगी आदित्यनाथ नाथ ने नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी की लाल टोपी पर भी चुटकी ली और कहा कि विधायिका को ड्रामा कम्पनी ना मान लें, कोई लाल टोपी, कोई हरी टोपी? पता नहीं, ये क्या परिपाटी बन गई है? पता नहीं, ये लोग घर पर भी टोपी पहन कर रहते हैं या नहीं.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि मैं बेसिक स्कूल के एक कार्यक्रम में गया था, वहां मेरा विरोध करने आये कुछ लोग टोपी लगाकर आये थे, टोपी पहनकर आने वाले को ढाई साल के बच्चे ने कहा- मम्मी-मम्मी, ये देखो गुंडा. सीएम योगी ने कहा कि आप गमछा बांध कर आते, पगड़ी पहनकर आते, मैं आपका स्वागत करता, ये अच्छा लगता, इस नाटक से तो बेहतर होता.

सीएम योगी आदित्यनाथ के इस बयान के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक हंगामा करने लगे. इस पर सीएम योगी ने कहा कि मैंने किसी नेता का नाम तो लिया नहीं, तो यह तो चोर की दाढ़ी में तिनके जैसा है, क्योंकि जब मैंने नाम नहीं लिया तो सदन में हंगामा क्यों कर रहे हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश से जीतने वाले कांग्रेस के बड़े नेता बाहर जाकर प्रदेश की खिल्ली उड़ा रहे हैं, आपके पास इटली जाने का वक्त है लेकिन अमेठी आने का वक्त नहीं है. वहीं, प्रियंका गांधी वाड्रा पर सीएम योगी ने कहा कि यह कैसा राजनीतिक संस्कार है, जब यहां आएंगे तो मंदिर भी याद आता है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भव्य राम मंदिर का काम 5 अगस्त को सम्पन्न हुआ , राज्यपाल के अभिभाषण में राम मंदिर का जिक्र हुआ तो इसमें क्या गलत है यह तो देश के गौरव का विषय है, दुनिया ने राम को अपनाया, अभी भी कुछ लोग राम नाम से विद्वेषय है, उस समय राक्षस लोग क्या करते थे?

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो लोग विभाजनकारी राजनीति आज कर रहे हैं, पहले भी करते थे, आज भी पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोग कहीं बाहर जाते है तो इंडियन कहते हैं, क्योंकि पाकिस्तानी कहेंगे तो लात-घूंसे चलने लगेंगे, कोई भी भारत से हज करने जाता है उसे वहां हिन्दू ही कहा जाता है, हिन्दू से इतनी चिढ़ क्यों, उपासना के तरीके अलग हो सकते हैं.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button