लखीमपुर में दर्दनाक हादसा, 13 की मौत चार गंभीर घायल

लखीमपुर। लखीमपुर- सीतापुर नेशनल हाई वे पर आज सुबह बड़ा हादसा हो गया। जिसमें 13 की मौत हो गई जबकि चार लोग गंभीर घायल हो गये। बताया जा रहा है कि लखीमपुर उचौलिया के पास खड़े ट्रक में पीछे से सवारी भरकर सीतापुर जा रही टाटा मैजिक घुस गई। मैजिक में 17 लोग सवार थे जिसमें से 13 की मौके पर ही मौत हो गई। सुबह के वक्त मैजिक सवारियां लेकर शाहजहांपुर से सीतापुर जा रही थी। दुर्घटना की सूचना मिलते ही एसपी ,सीओ व एसओ पसगवां सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचा और राहत व बचाव कार्य शुरूकर दिया है। अभी मरने वालों में से एक की ही शिनाख्त हो सकी है। 

लखीमपुर में दर्दनाक हादसा, 13 की मौत चार गंभीर घायल

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार टाटा मैजिक शाहजहांपुर से सवारी लेकर सीतापुर जा रही थी। तभी नैशनल हाइवे पर उचौलिया के पास ‘पापा जी के ढाबा’ के पास खड़े ट्रक में मैजिक घुस गई। बताया जा रहा है कि मैजिक काफी तेज स्पीड में थी और भिड़ंत इतनी तेज थी कि किसी को संभलने का मौका तक नहीं मिला। मैजिक में उस वक्त 17 सवारियां थीं।

एसपी डॉ. एस चिन्नप्पा ने 11 लोगों के मरने की पुष्टि कर दी है कई घायलों की हालत गंभीर है जिन्हें जिला अस्पताल सीतापुर में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना मिलते ही खुद जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह और एसपी डॉ. एस. चिनप्पा मौके पर पहुंच हैं।इस हादसे में टाटा मैजिक बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है।

इसी तरह तीन दिन पहले कुशीनगर में एक स्कूली वैन के ड्राइवर की लापरवाही ने 13 बच्चों की जान ले ली थी। जिसमें दुदही-बहपुरवा मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर पैसेंजर ट्रेन की टक्कर से एक स्कूली वैन के परखचे उड़ गए। 13 बच्चों की मौके पर मौत हो गई जबकि चालक व चार बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये। उन्हें गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। वैन चालक इयरफोन लगाकर मोबाइल पर बात कर रहा था जिसके कारण उसे ट्रेन की आवाज नहीं सुनाई दी। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कदम उठाते हुए बीएसए, एबीएसए, एआरटीओ और परिवहन विभाग के यात्री कर अधिकारी को निलंबित करने के निर्देश दिये। 
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वैन बहुत तेज गति से थी और चालक अपनी धुन में इतना मगन था कि लोगों के शोर मचाने पर भी वह नहीं सुन सका। वैन में 17 बच्चे और चालक सवार था। सिवान से गोरखपुर जाने वाली 55075 अप सवारी गाड़ी सुबह 6.50 बजे दुदही-बहपुरवा रेलवे क्राङ्क्षसग के पास पहुंची ही थी कि दुदही बाजार स्थित डिवाइन मिशन स्कूल की टाटा मैजिक वैन बच्चों को लेकर क्राङ्क्षसग पर आ गई। वैन की चाल से लग रहा था कि चालक ट्रेन को देख नहीं रहा है। लोग शोर मचाते हुए उसकी तरफ लपके भी लेकिन वह क्राङ्क्षसग पर जाकर वैन को ट्रेन से भिड़ा बैठा।

घटना की खबर मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ से आकर जिला अस्पताल में पीडि़त परिवारीजन से मुलाकात कर ढांढस बंधाया फिर घटनास्थल पर रवाना हो गए। उन्होंने घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने के साथ राज्य सरकार की तरफ से मृतक के परिवार वालों को दो-दो लाख जबकि घायल बच्चों के परिवारीजन को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने का एलान किया है। उन्होंने बगैर मान्यता के चल रहे मानक विहीन स्कूलों की जांच कराकर कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। बाद में उन्होंने गोरखपुर मेडिकल कालेज में जाकर घायलों का हालचाल लिया। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्वीट कर मृत बच्चों के परिवारीजन को दो-दो लाख, गंभीर घायलों को एक-एक लाख व सामान्य घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की