जानें क्यों कोरोना वायरस को लेकर WHO ने की चीन की तारीफ, सामने आई ये तजा रिपोर्ट…

कोरोनावायरस के कहर ने विश्व के लगभग सभी बड़े देशों को अपनी चपेट में ले लिया है. इस वायरस के संक्रमण की जड़ें चीन में पनपी और चीन में ही कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा मामले देखे गये. पूरे विश्व में इस वायरस से अब तक सबसे ज्यादा मौतें चीन में ही हुई हैं. इस महामारी को रोकने के लिए चीन ने जिस तरीके से कदम उठाये उसकी तारीफ करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने अन्य देशों को भी इस स्थिति से निपटने के लिये चीन से सीखने की नसीहत दी है.

दरअसल, कोरोनावायरस पर चिंता प्रकट करते हुए जिनेवा में डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस अधनोम घेब्येसू ने चीन की तारीफ करते हुए कहा कि, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग खुद इस महामारी की रोकथाम के लिए बनाई गई समिति का नेतृत्व कर रहे हैं. उनके इस कदम से प्रेरित होकर सरकार और पूरे समाज ने इस महामारी की रोकथाम को अपनी जिम्मेदारी मानते हुए सरकार के साथ मिलकर काम किया. जिससे चीन ने सफलतापूर्वक इस वायरस को फैलने से रोका. इसी सम्बंध में उन्होंने अन्य देशों को नसीहत देते हुए कहा, हमने पेइचिंग में चीन सरकार द्वारा उठाये गये कदमों को देखा. अगर बाकी देशों की सरकार के उच्चस्तरीय नेता तत्परता से इस महामारी की रोकथाम के लिए काम करेंगे तो समस्या जल्द ही हल की जा सकती है.

वहीं डब्ल्यूएचओ की स्वास्थ्य आपात परियोजना तकनीकी पर्यवेक्षक मारिया वान केरखोव ने कहा कि, हमने चीन से वायरस से संक्रमित मामले और माहौल की पहचान करना सीखा. जो सार्वजनिक स्वास्थ्य के सबसे महत्वपूर्ण बुनियादी सिद्धांत हैं. चीन सक्रिय रूप से संक्रमित मामलों और उनके आसपास संदिग्ध मामलों को ढूंढ रहा है.

सऊदी अरब को लगा बड़ा झटका, पानी से भी सस्ता हो गया कच्चा तेल

अन्य देशों को चीन से सीखने की जरुरत है

डब्ल्यूएचओ के स्वास्थ्य आपात परियोजना के निदेशक माइकल जे रयान ने कहा कि, हालांकि विभिन्न देशों में इस महामारी की स्थिति अलग-अलग है, लेकिन हम चीन से बहुत अच्छा और प्रभावी अनुभव सीख सकते हैं.

आपको बता दें कि यह वायरस अब तक लगभग 95 देशों में फैल चुका है. पूरे विश्व में कुल 109,400 संक्रमण के मामले सामने आये हैं, वहीं इस वायरस से मरने वालों की संख्या 3800 हो चुकी है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button