जान लें खजूर के हैरान कर देने वालें फायदे, क्या है खाने का सही समय

 ऊर्जा से भरपूर नाश्ते के रूप में, जिसका सेवन प्रतिदिन किया जा सकता है, ऐसी ही एक चीज का नाम है खजूर (डार्ट्स). खजूर उत्कृष्ट पोषण देने के अलावा शरीर को पर्याप्त मात्रा में फाइबर देता है जो हमारे समग्र स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है. लेकिन सवाल यह है कि खजूर खाने का सही वक्त और सही मात्रा क्या है.

खजूर हमारे शरीर को पोषण तो देता ही है साथ ही इसकी सफाई भी करता है. खजूर में कई एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं. साथ ही मस्तिष्क के कार्य को बेहतर बनाने में भी मदद करते हैं. अक्सर लोगों के मन में यह सवाल आता है कि क्या उन्हें रात में खाने के बाद या खाली पेट या बिस्तर पर जाने से पहले खजूर का सेवन करना चाहिए. इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि खजूर खाने का सबसे अच्छा और सबसे खराब समय कब है.

क्या है खजूर खाने का सही वक्त?
वर्कआउट से 30-60 मिनट पहले 2-4 खजूर खाए जा सकते हैं क्योंकि वे आपकी शरीर में एनर्जी के स्तर को बरकरार रखने में मदद करता है. साथ ही शरीर को उनके धीमी गति से रिलीज होने वाले कार्ब को रिलीज करने की प्रक्रिया को आसान करते हैं. खजूर का फाइबर कंटेंट यह सुनिश्चित करता है कि पेट लंबे समय तक भरा रहे और आपको जल्दी भूख न लगे. इसलिए खजूर सबसे अच्छे हेल्दी नाश्ते के रूप में काम करते हैं. साथ ही सोने से पहले भी खाए जा सकते हैं.

आंतों के कीड़े को मारने में मदद करने, महत्वपूर्ण अंगों को साफ करने और दिल और यकृत के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए खजूर को सुबह जल्दी खाना चाहिए ताकि उनकी ऊर्जा को बढ़ावा मिल सके. जबकि कुछ अध्ययनों ने शक्ति में सुधार लाने और कामोत्तेजक के रूप में उनके स्वास्थ्य लाभ पर प्रकाश डाला है. अन्य लोगों ने त्वचा और बालों को एक प्राकृतिक चमक देने के लिए एंटीऑक्सिडेंट को श्रेय दिया है.

खजूर वजन घटाने को बढ़ावा देते हैं, कब्ज का इलाज करते हैं, हड्डी के स्वास्थ्य के लिए अद्भुत काम करते हैं, प्रतिरक्षा को मजबूत करते हैं, मस्तिष्क और हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करते हैं और यहां तक ​​कि अल्जाइमर या विभिन्न प्रकार के कैंसर या अन्य पुरानी बीमारियों जैसी बीमारियों को रोकते हैं. विशेषज्ञ रोजाना खजूर खाने की सलाह देते हैं.

डायबिटीज और प्रीडायबिटीज से पीड़ित लोगों को भी फायदा होता है क्योंकि खजूर में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर में सूजन को कम कर सकते हैं. वे कई अन्य पोषक तत्वों और यौगिकों के साथ पॉलीफेनोल में उच्च होते हैं जो इंसुलिन प्रतिरोध में सहायता करते हैं. हालांकि, मधुमेह होने पर उनका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से पुष्टि करना उचित है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button