जानिए कैसे लाखों मर्ज की दवा है बन सकती है आपकी हंसी

कोई गम हो या फिर खुशी चेहरे पर मुस्कान बनाए रखना जरूरी है. चेहरे पर आने वाली एक प्यारी सी मुस्कान ना सिर्फ आपके व्यक्तित्व पर चार चांद लगा देती है बल्कि आपको कुछ नया करने के लिए प्रेरित करती है. जब चेहरे पर आने वाली एक मुस्कान इतना काम कर सकती है तो जरा सोचिए जब आप खुलकर हंसेगे तो आपको कितने सारे फायदें होंगे. वो पुरानी है ना , ‘लाफ्टर इज द बैस्ट मेडिसन’. चेहरे पर आने वाली एक हंसी कई सारे मर्जों की दवा मानी जाती है. हंसने से सेहत और सूरत दोनों ही अच्छी होती है. लेकिन वक्त की आपाधापी में आप भी खुलकर मुस्कुराना भूल गए है तो आज हम आपको बताने वाले हंसने के फायदे बेशुमार. जिससे आपकी सेहत और सीरत मे निखार आ जाएगा. 

जानिए कैसे लाखों मर्ज की दवा है बन सकती है आपकी हंसी

रक्त संचार बनेगा बेहतर
डॉक्टरों और शोधकर्ताओं का मानना है कि खुलकर हंसने वाले लोगों में अन्य लोगों के मुकाबले रक्त का संचार बेहतर होता है. खुलकर हंसने से आपकी गर्दन और चेहरे की स्किन सही तरीके से खींचती है, जिससे शरीर में रक्त का संचार बेहतर तरीके से हो पाता है.

पहले गर्भपात के लिए अपनाये जाते थे ये 10 अमानवीय तरीके, महिलाओं को झेलना पड़ता था असहनीय दर्द

तनाव हो जाए उड़न-छू
हंसी में तनाव, दर्द और झगड़े आदि को खत्म करने की कमाल की शक्ति होती है. आपके दिमार और शरीर पर पड़ने वाले तनाव के प्रभाव को खत्म करने के लिए हंसी काफी सहायक मानी जाती है. ऐसा माना जाता है कि हंसी वो दवा है जिसका कोई तोड़ नहीं है. विशेषज्ञ भी इस बात को मान चुके है कि ज्यादा हंसने वाला शख्स, कम हंसने वाले शख्स की तुलना में ज्यादा सामाजिक होता है. खुलकर हंसने वालों को अवसाद की समस्या कम होती है. 

दिमाग में सकारात्मक ऊर्जा का संचार
दोस्तों, रिश्तेदारों से हंसी मजाक करने से आपके दिल और दिमाग का बोझ कम हो जाता है, जिससे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है. सकारात्मक ऊर्जा का संचार होने के कारण आपकी बॉडी ज्यादा सेहतमंद रहती है. सकारात्मक विचार दिमाग में आने के कारण एक व्यक्ति काम पर ज्यादा फोकस कर पाता है. खुलकर हंसने के कुछ देर बाद आपकी बॉडी रिलेक्स फील करने लगती है, जिससे आपकी बॉडी में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है. 

 
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button