किम जोंग ने संकट की घड़ी में चीन का दिया साथ, अमेरिका पर पैनी नजर…

उत्‍तर कोरियाई नेता किम-जोंग-उन ने चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग को एक मौखिक संदेश भेजा है। इस संदेश में किम ने  कोरोना वायरस के प्रसार को बेहतर ढ़ग से रोकेने के लिए बीजिंग की प्रशंसा की और बधाई दी है। उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग का यह बयान इसलिए भी उपयोगी है, क्‍योंकि जब अमेरिका सहित अन्‍य यूरोपीय देश कोरोना वायरस के प्रसार के लिए चीन को दोषी मान रहे हैं, ऐसे में  किम को जिनपिंग को बधाई देकर अपनी दोस्‍ती का निर्वाह किया है। इस बधाई का एक और भी संकेत है कि किम ने साफ कर दिया है कि वह संकट की घड़ी  में चीन के साथ खड़ा है। 

इस वर्ष उत्‍तर कोरियाई नेता का यह दूसरा बधाई संदेश है। किम ने इसके पूर्व भी कोरोना वायरस के संबंध में चीनी राष्‍ट्रपति को संदेश भेज चुके हैं। किम ने पहला बधाई संदेश जनवरी में भेजा था। इस संदेश में भी उन्होंने वायरस के खिलाफ बीजिंग की लड़ाई के लिए अपने समर्थन को दर्शाया था। अपने मौखिक संदेश में किम जोंग उन ने चीनी राष्‍ट्रपति के अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य की कामना की है। किम ने कहा है कि शी जिनपिंग के नेतृत्‍व में पार्टी ने लगातार बड़ी सफलता हासिल की है। वह निरंतर पार्टी का विस्‍तार कर रहे हैं। उत्‍तर कोरियाई नेता ने कहा कि जिनपिंग बुद्धिमान है और उनके मार्गदर्शन में चीन अंतिम जीत हासिल करेगा। 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

आठ दिन पूर्व भी किम जोंग उस समय सुर्खियों में रहे ज‍ब 20 दिनों तक अद्श्‍य रहने के बाद वह अचानक अटकलों पर विराम देते हुए प्रगट हो गए। 1 मई को उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग 20 दिन बाद पहली बार सबके सामने आए। किम ने यहां एक फर्टिलाइजर फैक्ट्री का उद्घाटन किया। गौरतलब है कि किम 11 अप्रैल को पार्टी पोलित ब्यूरो की मीटिंग के बाद से सार्वजनिक रूप से किसी को नजर नहीं आए थे। यहां तक कि किम 15 अप्रैल को अपने दादा किम इल सुंग की याद में होने वाले सालाना कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए थे। इसके बाद किम को लेकर तमाम तरह की अटकलों का दौर शुरू हुआ था। 15 अप्रैल से ही किम से जुड़ी कई सैटेलाइट तस्वीरें और कई रिपोर्ट्स सामने आईं थीं। इनमें उनकी मौत होने से लेकर उनकी कार्डियोवेस्कुलर सर्जरी होने तक का दावा किया गया था। हालांकि 1 मई के बाद इन अटकलों पर विराम लग गया। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button