केजरीवाल के मंत्री कैलाश गहलोत के घर आयकर विभाग का छापा, मिले 2 करोड़ के जेवरात

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और उनके परिवार के सदस्यों के यहां आयकर विभाग के छापे में 37 लाख रुपये नकद और करीब दो करोड़ रुपये के जेवरात जब्त किए गए हैं। आयकर विभाग के प्रवक्ता सुभी अहलूवालिया ने  बृहस्पतिवार को बताया कि घर और दफ्तरों में इस माह के दूसरे सप्ताह में छापा मारा था।

विभाग ने गहलोत और उनके परिवार के सदस्यों के 16 ठिकानों पर छापे मारे था। ये ठिकाने दो कंपनियों ब्रिस्क इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपर प्राइवेट लिमिटेड और कॉरपोरेट इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड से संबंधित हैं।

गौरतलब है कि गहलोत व उनकी पत्नी के लॉकर से पहले ही 28 लाख रुपये सीज किए जा चुके हैं। आयकर अधिकारियों का मानना है कि गहलोत ने जिस स्तर पर लेन-देन किया है, उससे लगभग 120 करोड़ रुपये की कर चोरी होने का अनुमान है।

यहां पर बता दें कि दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के घर पर 10 अक्टूबर की सुबह आयकर (IT) विभाग की छापेमारी हुई थी। IT विभाग ने ये छापेमारी इनकम रिटर्न्स को लेकर की थी। आयकर विभाग ने कैलाश गहलोत के कुल 16 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

आम आदमी पार्टी ने इन छापेमारी को राजनीतिक एजेंडा बताया थी। आम आदमी पार्टी ने इन छापेमारी के बाद ट्वीट कर केंद्र सरकार पर हमला बोला था। 

आपको बता दें कि इनकम टैक्‍स ने गहलोत के वसंत कुंज स्थित घर में छापा मारा था। कैलाश गहलोत साउथ पश्चिमी दिल्‍ली के नजफगढ़ से विधायक हैं और मई 2017 में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्‍हें परिवहन मंत्री बनाया था।

यहां पर बता दें कि दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का इससे पहले भी विवादों भरा नाता रहा है। कैलाश गहलोत उन 20 विधायकों में शामिल थे, जिनपर ऑफिस ऑफ प्रोफिट का मामला चल रहा था। हालांकि, इस मामले में भी उन्हें राहत मिल गई है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी दिल्ली सरकार के कई मंत्री आयकर विभाग समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियों की जांच निगरानी में चल रहे हैं। सिर्फ मंत्री ही नहीं बल्कि चंदे को लेकर आम आदमी पार्टी ही आयकर विभाग के नोटिस का सामना कर रही है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button