केजरीवाल सरकार ने बताया, दिल्ली में नहीं लगेगा नाइट कर्फ्यू…

आज केजरीवाल सरकार ने कोरोना को लेकर स्टेटस रिपोर्ट फाइल की। इसके साथ ही जानकारी दी कि अभी सरकार दिल्ली में कहीं भी नाइट कर्फ्यू लगाने के बारे में नहीं सोच रही है।

आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने COVID-19 की स्थिति का आकलन करने के बाद गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि राजधानी में धीरे धीरे कोरोना संक्रमण कम हो रहा है। ऐसे में अब नाइट या वीकेंड कर्फ्यू लगाने की जरूरत नहीं हैं।

सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि उसने COVID-19 उल्लंघनों के संबंध में जारी किए गए 2 लाख से अधिक चालान के बदले 17 करोड़ रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला है और दिल्ली पुलिस ने अब तक जारी किए गए 5 लाख से अधिक चालान के बदले 27 करोड़ रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला है।

बता दें कि, राजधानी दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस (COVID-19) संक्रमण के करीब 4000 नए मरीज मिलने के बाद यहां संक्रमितों की कुल संख्या 5 लाख 80 हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं आज संक्रमण से 82 और लोगों की मौत होने से मृतकों संख्या भी बढ़कर 9,300 से अधिक हो गई है।

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बीते 24 घंटे में जहां कोरोना के  3,944  नए मरीज मिले हैं, वहीं, 82 मरीजों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि दिल्ली में संक्रमितों की कुल संख्या 5,78,324 हो गई है। आज दिल्ली में 5,329 मरीज पूरी तरह ठीक होकर अपने घर चले गए।

राजधानी में आज कोरोना वायरस संक्रमण के 30,302 एक्टिव मामले हैं। वहीं, अब तक कुल 5,38,680 मरीज इस महामारी को मात देकर पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। इसके साथ ही अब तक मरने वालों की संख्या 9,342 हो गई है।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, आज दिल्ली में कुल 78,949 टेस्ट किए गए हैं। इनमें से 36,370 आरटीपीआर/ सीबीएनएएटी / ट्रूनैट टेस्ट और 42,579 रैपिड एंटीजन टेस्ट किए गए। दिल्ली में अब तक कुल 6,42,5470 जांचें हुई हैं और प्रति 10 लाख लोगों पर 3,38,182 टेस्ट किए गए हैं। इसके साथ ही राजधानी में कंटेनमेंट जोन की संख्या एक बार फिर से बढ़कर 5772 हो गई है।

 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button