Home > धर्म > घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात

घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात

कछुए को भगवान विष्‍णु अवतार माना जाता है। धातु का कछुआ घर में रखने या उसका चित्र दीवार पर लगाना शुभ होता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है व वास्तुदोष भी दूर होता है। सनातन धर्म में कछुए को ‘कूर्म’ अवतार अर्थात कच्छप अवतार कहकर संबोधित किया जाता है। उनके दशावतार में से ‘कूर्म’ अर्थात कछुआ भगवान विष्णु का दूसरा अवतार है। पद्म पुराण के अनुसार, कच्छप के अवतार में भगवान विष्णु ने क्षीरसागर में समुद्र मंथन के  समय मंदार पर्वत को अपने कवच पर थामा था। 
इस प्रकार भगवान विष्णु के कच्छप अवतार, मंदार पर्वत तथा शेषनाग की सहायता से देवों एंव असुरों ने समुद्र मंथन करके चौदह रत्नों की प्राप्ति की। भगवान विष्‍णु के ‘कूर्म’ अवतार की पूजा-अर्चना भी की जाती है। हिंदू धर्म में कछुए को  शुभ माना गया है। घर में धातु का कछुआ रखने से, कई समस्याओं के समाधान में मदद मिलती है।
 घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात वास्तु के अनुसार कछुए को उत्तर दिशा में रखने से धन लाभ और शत्रुओं का नाश होता है। परिवार के सदस्यों को सुरक्षा भी मिलती है। परिवार के मुखिया की आयु लंबी होती है। यदि आप व्यवसायी हैं, तो अपने प्रतिष्ठान के मुख्यद्वार पर कछुए का चित्र लगाएं। ऐसा करने से व्यापार में धन लाभ और सफलता मिलती है रुके हुए काम जल्दी होने लगते हैं।
घर के मुख्यद्वार पर कछुए का चित्र लगाने से परिवार में शांति बनी रहती है। यह क्लेश व नकारात्मक चीजों को घर से दूर करता है। घर की नकारात्मक उर्जा भी दूर होती है। धातु का कछुआ घर में रखने से घर के लोगों का मूड भी  अच्छा रहता है। घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात

अक्सर घर का कोई सदस्य लगातार बीमार रहता है और दवा आदि लेने पर भी स्वास्‍थ सुधार नहीं होता। लाख जतन करने के बाद भी यदि कारण समझ नहीं आ रहा हो, तो घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में कछुए का चित्र लगाएं। इस दिशा में धातु का कछुआ रखने से घर का वातावरण शुद्ध रहता है। कछुआ नजर दोष खत्म करता है। इससे घर में बीमारियां नहीं आती व घर पर बुरी नजर का असर नहीं होता। 
 घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात कछुआ किसी भी धातु, कांच, मिट्टी, क्रिस्टल या लकड़ी से बना हो। इसे घर में रखने से जीवन में शांति, सद्भाव, दीर्घायु और पैसा आता है। मिट्टी से बने कछुए को हमेशा घर या कार्यालय के पूर्वोत्तर या दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखा जाना चाहिए है, ऐसा करने से यह सर्वोत्तम परिणाम देता है। यदि यह लकड़ी से बना हुआ है, तो उसे पूर्व या दक्षिण-पूर्व में रखा जाना चाहिए।  घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात

कछुआ शांत और मंदगति से चलने वाला दीर्घजीवी प्राणी है। फेंगशुई में कछुए को शुभता का प्रतीक माना जाता है। कछुए के प्रतीक को घर में रखने से आर्थिक उन्नति होती है तथा घर में सकारात्मक उर्जा का संचार होता है।  इससे बीमारियां घर से दूर रहती है व सेहत अच्छी बनी रहती है। वास्तु तथा फेंगशुई में धातु या स्फटिक निर्मित कछुआ घर में रखना ज्यादा असरकारी माना जाता है। कछुआ एक प्रभावशाली यंत्र है, जिससे वास्तु दोष का निवारण  होता है और खुशहाली आती है। इसे घर में रखने से कामयाबी के साथ-साथ धन-दौलत का भी समावेश होता है।
घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात कछुए के प्रतीक को ऑफिस या घर की उत्तर दिशा में रखें। इसे कभी भी बेडरूम में न रखें। इसकी स्थापना हेतु सर्वोत्तम स्थान ड्राईंग रूम है। दो कछुओं के प्रतीक को  एक साथ घर में न रखें। ऐसा करने से लाभ क्षेत्र बाधित होता है। कछुए की स्थापना हेतु उत्तर दिशा सर्वोत्तम है, क्योंकि शास्त्रों में उत्तर दिशा को धन की दिशा माना गया है। पूर्व दिशा की ओर भी कछुए के प्रतीक को स्थापित किया जा सकता है। कछुए का मुंह घर के अंदर की ओर रहे। इसके प्रतीक को सूखे स्थान पर रखने के बजाय किसी बर्तन में पानी भर कर रखें।  सात धातु से बना कछुआ वास्तु दोष दूर करता है। इसकी पूजा करने से घर में सद्भाव और शांति बनी रहती है। कछुए की पीठ पर सात धातु से बना सर्व सिद्धि यंत्र साहस और समृद्धि देता है। इसे उत्तर-पूर्व दिशा में रखें।घर की इस जगह पर रखें क्रिस्टल का कछुआ, होगी धन की बरसात
 
Loading...

Check Also

हाथ में कोई भी रत्न धारण करने से पहले इन बातों का जरूर रखें खयाल...

हाथ में कोई भी रत्न धारण करने से पहले इन बातों का जरूर रखें खयाल…

रत्न आपके जीवन में आई बड़ी परेशानियों का समाधान बन सकते हैं, लेकिन उनका शुद्ध …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com