कर्नाटक चुनाव प्रचार के आखिरी दिन: राहुल बोले पीएम को मेरी मां पर कमेंट करना अच्छा लगता है

- in Mainslide, राष्ट्रीय

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के इटली मूल को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिए बयान पर जबाव देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरूवार को कहा वह कई भारतीयों से ज्यादा भारतीय हैं।  

बेंगलुरू में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा- “मेरी मां इटली की हैं। मेरी मां ने अपनी जिंदगी का एक बड़ा हिस्सा भारत में गुजारा है। वह कई लोग जिन्हें हमने देखा है उनसे कहीं ज्यादा भारतीय हैं। मेरी मां ने इस देश के लिए बलिदान दिया है। उन्होंने इस देश के लिए संघर्ष किया है। ऐसे में जब वह इस तरह की टिप्पणी करते हैं तो एक प्रधानमंत्री की सोच को जाहिर करता है।”

मुद्दो पर लड़ रहे हैं चुनाव 

राहुल ने कहा कि चुनाव में कांग्रेस ही जीतेगी। उन्होंने आगे कहा कि कर्नाटक में चुनाव कैंपेन के दौरान यहां के लोगों से काफी कुछ सीखा है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वे मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं।

इलाहाबाद में बदमाशों का हौसला बुलंद दिनदहाड़े वकील को गोली मारी

राफेल डील में नियमों का पालन नहीं

राहुल गांधी ने मोदी सरकार की तरफ से की गई राफेल डील पर भी सवाल उठा दिया। उन्होंने कहा कि इस डील में नियमों का पालन नहीं किया गया है बल्कि दोस्तों को खुश करने के लिए यह डील की गई है। 

दलित मुद्दा नहीं उठाते पीएम

राहुल के प्रधानमंत्री बनने को लेकर दिए बयान पर पीएम मोदी की चुटकी को लेकर उन्होंने कहा कि पीएम ने यहां पर मुद्दों को भटकाने की पूरी कोशिश की। उन्होने कहा कि पीएम ने यहां के लिए कुछ भी नहीं किया। राहुल ने आगे कहा कि पीएम दलितों का मुद्दा क्यों नहीं उठाते हैं। मोदी भ्रष्टाचार की बात करते हैं लेकिन येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुका है। उन्होंने कहा कि रेड्डी ब्रदर्स ने यहां के लोगों का पैसा लूटा है।  

पीएम की चीन यात्रा पर हमला

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चीन यात्रा पर भी राहुल गांधी ने हमला बोला। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चीन बिना एजेंडा के गए थे जबकि एजेंडा डोकलाम था। उन्होंने कहा कि पीएम ने वहां पर जाकर डोकलाम के बारे में एक भी शब्द नहीं बोला। 

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अपने जीन्स में मौजूद कैंसर के खतरे से अनजान हैं 80 फीसदी लोग

दुनिया भर में कैंसर के मामलों में तेजी