ISIS ने पार किया बेरहमी की हद; सरेआम रेत दिए 42 लाख मुस्लिम परिवार

जी हाँ!! ISIS ने पार किया बेरहमी की हद; सरेआम रेत दिए 42 लाख मुस्लिम परिवार… सुन्नी आतंकी संगठन होने के बावजूद इस्लामिक स्टेट (ISIS) की वजह से सबसे ज्यादा नुकसान सुन्नी मुसलमानों को हुआ है। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने जब से इराक और सीरिया के हिस्सों पर कब्जा किया है शायद ही किसी धर्म के लोग हों जो इसके अत्याचार से बचे हों। शिया मुस्लिम, कुर्द, ईसाई और यजीदी हमेशा आईएस की क्रूरता का निशाना रहे हैं।

ISIS ने पार किया बेरहमी की हद; सरेआम रेत दिए 42 लाख मुस्लिम परिवार

यह भी पढ़ें:- अभी-अभी: जनधन खातों में जमा हुए 27 हजार करोड़, तुरंत चेक करें अकांउट

खबरों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट की लड़ाई की वजह से इराक में बेघर हुए लोगों में से 42 लाख सुन्नी मुसलमान हैं। इराक के मोसुल में सबसे ज्यादा संख्या में सुन्नी मुसलमान रहते हैं, लेकिन इराकी सेना की चढ़ाई के बाद कई गांव तबाह हो गए और कई सुन्नियों की जान चली गई। इसी तरह सीरिया के रक्का में इस्लामिक स्टेट का कब्जा है लेकिन वहां भी सबसे ज्यादा नुकसान सुन्नी समुदाय ही झेल रहा है।

उत्तरपश्चिमी इराक के रबिया शहर में सुन्नी समुदाय के नेता शेख गाजी मोहम्मद हमोद का कहना है कि आईएसआईएस एक सुनामी था जिसने सुन्नियों को तबाह कर दिया। हमने सब कुछ खो दिया। हमारा घर, हमारा काम, हमारी जिंदगी।
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button