जकरबर्ग: पूछताछ में इस बात को मानी अपनी सबसे बड़ी भूल

डेटा लीक मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग मंगलवार को अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश हुए. इस दौरान US सीनेटर्स ने उनसे कई तीखे सवाल पूछे. पूछताछ के दौरान एक बार फिर मार्क जकरबर्ग ने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी.

जकरबर्ग पहले भी उपयोगकर्ताओं और जनता से कई बार माफी मांग चुके हैं लेकिन यह उनके करियर में पहली बार है जब वह कांग्रेस के सामने उपस्थित हुए हैं. सुनवाई में जकरबर्ग ने अपनी कंपनी में लोगों का भरोसा बहाल करने का प्रयास किया.

उन्होंने कहा , ‘हमने अपनी जिम्मेदारियों पर पर्याप्त रूप से बड़ा नजरिया नहीं अपनाया और यह बड़ी भूल थी.’’ जकरबर्ग ने कहा कि यह मेरी भूल थी और मुझे इसका अफसोस है, मैंने फेसबुक शुरू किया , मैंने इसे चलाया और यहां जो कुछ हुआ, उसके लिए मैं जिम्मेदार हूं. इसके अलावा कंपनी ने उपयोगकर्ताओं को सतर्क करना भी शुरू किया कि कैंब्रिज एनालिटिका ने उनका डेटा एकत्रित किया है.’

फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने इस्तीफा देने से किया इनकार

भारत चुनावों पर भी दिया जवाब

पूछताछ के दौरान यहां उन्‍होंने भरोसा दिलाया कि भारत में होने वाले आगामी चुनाव को फेसबुक के माध्‍यम से प्रभावित नहीं होने देंगे. इसके लिए वो प्रयास कर रहे हैं. जकरबर्ग ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘2018 चुनाव के मद्देनजर बहुत ही महत्‍वपूर्ण साल है. इस साल अमेरिका में मध्यावधि चुनाव होने हैं. वहीं, भारत, पाकिस्‍तान, ब्राजील जैसे देशों में भी चुनाव हैं. हम भरोसा दिलाते हैं कि हम वो सब कुछ करेंगे जिससे ये चुनाव प्रभावित न हों.’

5 घंटे में 44 सेनेटर्स ने पूछे सवाल

फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने अमेरिकी कांग्रेस के सामने कैंब्रिज अनालिटिका डेटा लीक को लेकर तीखे सवालों के जवाब दिए. इस दौरान 44 सेनेटर्स ने उनसे बारी बारी से सवाल पूछे. सभी को 5 मिनट दिए गए थे. ये सुनवाई करीब 5 घंटे तक चली. इस दौरान दो ब्रेक लिए गए. वहीं, कई सवालों का जवाब देते हुए जकरबर्ग बेहद घबराए हुए नजर आए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यूनाइटेड नेशन्स (UN) की बैठक में भाग लेने के लिए न्यूयोर्क शहर पहुँची सुषमा स्वराज

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर