आगरा: सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट मामले में तीन मुकदमे दर्ज

आगरा। सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर निर्णय के विरोध में एक बार फिर से भारत बंद कराने की मुहिम शुरू की जा रही है। सोशल मीडिया पर दस अप्रैल को भारत बंद कराने की बाबत अभियान चलाने के मामले में तीन लोगों के खिलाफ दो थाना में केस दर्ज किया गया है।आगरा: सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट मामले में तीन मुकदमे दर्ज

ताजनगरी आगरा शहर में एक बार भारत बंद के नाम पर उपद्रव होने के बाद अब पुलिस सक्रिय है। देर रात पुलिस ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने वाले तीन लोगों के खिलाफ दो थाना में केस दर्ज किया है। इनमें से एक व्यक्ति ने भड़काऊ पोस्ट डालते हुए 10 तारीख को भारत बंद की अपील की थी।

एससी एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में 2 अप्रैल को दलित संगठनों ने भारत बंद कराया था। इस दौरान शहर में कई स्थानों पर उपद्रव हुआ। उपद्रव के बाद पुलिस हरकत में आई और शहर के कई थानों में 31 मुकदमे दर्ज कर 29 उपद्रवियों को जेल भेज दिया। अब एक बार फिर भारत बंद कराने को सोशल मीडिया पर अभियान चल रहा है।

इस बार बंद के पीछे सवर्णों के संगठन है ।10 अप्रैल को भारत बंद कराने के लिए सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर लोगों को जोड़ा जा रहा है। इसमें भड़काऊ पोस्ट का भी प्रयोग कर रहे हैं। पूर्व में दलित संगठनों के आंदोलन की रूपरेखा भी सोशल मीडिया के माध्यम से ही तैयार हुई थी। अब 10 अप्रैल को फिर वही हालात पैदा ना हो इसको लेकर बेहद गंभीर पुलिस ने भड़काऊ पोस्ट डालने वाले लोगों को चिन्हित करना शुरू कर दिया है।

कल देर रात रात शहर के सदर थाने में फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट डालने के मामले में सोनू पंडित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। वहीं हरीपर्वत में फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट डालने के मामले में पुलिस ने अरुण चौधरी और जितेंद्र कुशवाहा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया। इनमें से अरुण चौधरी ने फतेहपुर सीकरी सांसद चौधरी बाबूलाल के नाम से आपत्तिजनक पोस्ट डाली थी।

जबकि जितेंद्र कुशवाहा ने वाट्सएप ग्रुप पर 10 अप्रैल को भारत बंद के दौरान उपद्रव होने की आशंका जताते हुए लोगों को घरों से ना निकलने की अपील की थी। एसपी सिटी कुमार अनुपम सिंह का कहना है कि सोशल मीडिया पर पुलिस की विशेष टीम लगातार नजर बनाए हैं। जो भी व्यक्ति भड़काऊ पोस्ट या लोगों को बरगलाने का काम करेगा उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगाई आग

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग को लेकर