Home > राजनीति > राजनाथ ने कहा- मोदी के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मस्तक ऊंचा

राजनाथ ने कहा- मोदी के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मस्तक ऊंचा

मेरठ। राजनाथ सिंह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ हुकूमत चलाने में कामयाब रहे हैं। मेरा विश्वास पक्का हो गया है। सभी को देखने के बाद यह यकीन हो गया है कि जीत का एक्सप्रेस वे यूपी से गुजरेगा। सभी कार्यकर्ताओं को समझना चाहिए कि आजादी उपहार में हासिल नहीं हुई है।

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत मेरठ से हुई थी। हम राजनीति सत्त्ता चलाने के लिए नहीं देश चलाने के लिए करते हैं। मोदी के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मस्तक ऊंचा हुआ है। कांग्रेस और विपक्षी दल को काम पच नहीं रहा है। कांग्रेस के काठ की हांडी दोबारा नहीं चढ़ेगी। राहुल गांधी की झप्पी को चिपको अभियान बताया।

कांग्रेस ने जाति मजहब में बांटने की राजनीति की

राजनाथ ने कहा कि जो संसद की गरिमा नहीं बना सकता वह प्रधानमंत्री बनने का स्वप्न देख रहा है। राजनाथ ने कहा कि आज दुनिया से निवेशक भारत की ओर आकर्षित हो रहे हैं। भारत के प्रति विश्व में आकर्षण बढ रहा  है। कांग्रेस ने जाति मजहब में बांटने की राजनीति की है। सत्ता हासिल हो या न हो समाज को बंटने नहीं देंगे। प्रधानमंत्री ने हाथ में झाड़ू इसलिये उठाया कि वह संदेश देना चाहते थे कि कोई काम छोटा नहीं होता। गरीबों के प्रति समर्पित है मोदी सरकार।

असली अर्थ पूरा करने तक रुकेंगे नहीं

राजनाथ ने कहा कि सह मत भूलना कि यह भाजपा अन्य पार्टियों से भिन्न है। यह एंटरप्राइजेज नहीं है। नीति का मतलब सन्मार्ग की ओर ले जाना है। हम सभी कार्यकर्ता संकल्प लें कि राजनीति के असली अर्थ को पूरा करने तक रुकेंगे नहीं। अंत्योदय और राष्ट्रोदय पर कार्य कर रहे हैं। राजनाथ सिंह ने कहा कि मर्यादा कभी मत तोड़ना। रावण धनवान थे, विद्वान थे, बलवान भी थे. लेकिन मर्यादा का पालन करने वाले भगवान राम की ही पूजा होती है।

जो जब होना होगा होकर रहेगा

टिकट पर राजनाथ बोले कि इस जन्म में नहीं तो उस जन्म में मिलकर रहेगा। जो मिलना होता है उसे कोई रोक नहीं सकता। कहा कि बूथ जीता तो चुनाव जीता। चुनाव जीता तो देश जीता। गृह मंत्री ने कहा कि अपराधियों के कलेजे में योगी आदित्यनाथ ने दहशत पैदा कर दी है। राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री की नीयत पर कोई सवालिया निशान नहीं लगा सकता।

विकास की पहली शर्त है सुरक्षा। एनआरसी  कितनी देशी हैं कितने विदेशी क्या इसका आंकड़ा नहीं होना चाहिए। अब सिर्फ 8 जिलों में नक्सलवाद बचा है, शेष में खत्म करा दिया गया है । आतंक के रास्ते पर जाने वाले युवाओं की संख्या कम हुई है। कहा कि 350 के लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। प्रदेश में 73 से भी बेहतर करने का संकल्प लेकर जाइए।

Loading...

Check Also

विधानसभा चुनाव परिणाम: आप को जनता ने किया खारिज, प्रत्याशियों से ज्यादा नोटा को मिले वोट

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के मतगणना के रुझानों से तस्वीर लगभग साफ हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com