भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास, हांग कांग को 26-0 से रौंदकर 86 साल पुराना रिकॉर्ड

- in खेल

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एशियन गेम्स में बुधवार को हुए पूल मैच में हांग कांग को 26-0 से रौंदकर इतिहास रच दिया है. यह हॉकी में भारत की अब तक की सबसे बड़ी जीत है.

इससे पहले भारत (आजादी से पहले) ने 1932 लॉस एंजेलिस ओलंपिक गेम्स में अमेरिका को 24-1 से मात दी थी. इस मैच में भारत शुरुआत से ही हावी था. बता दें कि इससे पहले टीम ने 18वें एशियाई खेलों में अपने अभियान का शानदार आगाज किया था.

पहले ही मुकाबले में टीम इंडिया ने मेजबान इंडोनेशिया को 17-0 से रौंद कर रख दिया था. यह भारत की एशियाड में अब तक की सबसे बड़ी जीत है. मैच में भारत के 9 से ज्यादा खिलाड़ियों ने गोल किए.

भारतीय हॉकी के इतिहास में 86 साल बाद यह मौका आया है, जब उसने इतनी बड़ी जीत हासिल की है.

1932 में भारत की ऐतिहासिक जीत में किसने किए थे कितने गोल?

भारतीय गेंदबाज़ों के सामने हारी इंग्लैंड टीम, हाथ में आया तीसरा टेस्ट

रूप सिंह (10)

मेजर ध्यान चंद  (8)

गुरमीत सिंह खुल्लर (5)

एरिक पिनिगर  (1)

मैच रिपोर्ट-

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 18वें एशियाई खेलों में अपने दमदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए बुधवार को अपने दूसरे ग्रुप मुकाबले में हांग कांग को 26-0 से करारी शिकस्त दी. भारत ने अपने पहले ग्रुप मुकाबले में मेजबान इंडोनेशिया को 17-0 के भारी अंतर से मात दी थी.

हांग कांग के खिलाफ भारत ने तेज शुरुआत की और फॉरवर्ड खिलाड़ी आकाशदीप ने दो मिनट अंदर ही पहला गोल करते हुए अपनी टीम को बढ़त दिला दी. एक मिनट बाद मनप्रीत सिंह ने भारत के लिए दूसरा गोल किया.

शानदार शरुआत के बाद भारत ने तेज हॉकी खेलना जारी रखा और पहले क्वार्टर में चार गोल और किए. रूपिंदर पाल सिंह ने पेनल्टी कॉर्नर के माध्यम से दो और एसवी सुनील एवं विवेक सागर ने एक-एक गोल दागा.

दूसरे क्वार्टर में भारत ने आक्रामक खेल दिखाते हुए कुल आठ गोल दागे. मंदीप सिंह और ललित उपाध्याय ने दो-दो, जबकि मनप्रीत, हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास और वरुण कुमार ने एक-एक गोल किया.भारतीय खिलाड़ियों ने दूसरे हाफ में भी गोल करना जारी रखा और कुल 12 गोल दागे.

स्टार डिफेंडर हरमनप्रीत ने तीन और आकाशदीप, ललित एवं रूपिंदर ने दो-दो गोल दागे. इनके अलावा, दलप्रीत सिंह, चिंगलिंगसाना सिंह और सिमरनजीत सिंह ने एक-एक गोल किया. इस जीत के बाद भारत के छह अंक हो गए हैं और वह ग्रुप ए में भी शीर्ष पर काबिज है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लखनऊ की निशा ने जीता महिला 5000 मीटर दौड़ का स्वर्ण

52वीं यूपी स्टेट जूनियर ( अंडर-20 पुरूष व