भारत बंद में नहीं होगी कोई हिंसा, 21 पार्टियों का समर्थन: कांग्रेस

देशभर में हर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है. एक ओर जहां पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ रही है तो वहीं रुपये भी डॉलर के मुकाबले हर नए दिन के साथ निचले स्तर पर गिरता जा रहा है. 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव और उससे पहले 4 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस इस मुद्दे को हर हाल में भुनाना चाहती है. देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को तेल की बढ़ती कीमत और रुपये में जारी गिरावट के जरिए केंद्र की मोदी सरकार पर हमला करने का मुद्दा मिल गया है.

पार्टी ने इसको लेकर सोमवार को भारत बंद भी बुलाया है. कल होने वाले बंद को लेकर कांग्रेस को अन्य विपक्षी दलों का भी साथ मिल रहा है. भारत बंद से पहले दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि इस बंद में 21 पार्टियां शामिल होंगी. आपको बता दें कि लेफ्ट पार्टियां, डीएमके और एमएनएस ने पहले ही कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन किया है.

कांग्रेस के पूर्व सांसद अजय माकन ने कहा कि कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद बुलाया है. पार्टी ने बंद पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और रुपये में गिरावट के खिलाफ बुलाया है. उन्होंने कहा कि बंद में किसी भी तरह की हिंसा नहीं होगी.  माकन ने व्यापारियों से भी बंद को सफल बनाने की अपील की है.

भारत ने वो कर दिखाया, जो पूरी दुनिया में कोई देश नही कर सका, जाने क्या?

‘पेट्रोल और डीजल पर बढ़ी एक्साइज ड्यूटी’

मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए माकन ने कहा कि चार साल में पेट्रोल पर 211.7% और  डीजल पर 443% एक्साइज ड्यूटी बढ़ी है. मई 2014 में पेट्रोल पर 9.2 रुपये एक्साइज लगता था और अब 19.48 रुपये लगता है. वहीं मई 2014 में डीजल पर 3.46 रुपये एक्साइज था, जबकि अब 15.33 रुपये लगता है. सरकार से मांग है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में लाए. ऐसा हुआ तो कीमतें 15-18 रुपये तक कम होंगी. इससे बाकी चीजों की मंहगाई भी कम होगी. सरकार ने पिछले चार साल में एक्साइज ड्यूटी से 11 लाख करोड़ रुपए कमाए हैं.

डॉलर के मुकाबले रुपये के लगातार गिरने के बहाने भी माकन ने सरकर पर निशान साधा है.  कांग्रेस के पूर्व सांसद ने कहा कि रुपया लगातार गिर रहा है. पहले रुपया 60 पर पहुंचता था तो मोदी कहते थे कि रुपया ICU में चला गया है. अब की हालत पर वो क्या कहेंगे? हमारी मांग है कि रुपये को मजबूत करने के लिए सरकार कदम उठाए. उन्होंने कहा कि वे (बीजेपी) सिर्फ खोखले नारे देते हैं. जनता का मुद्दा बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, मंहगाई है. इनपर जवाब नहीं मिला तो जनता 2019 में जवाब देगी.

बीजेपी अध्यक्ष के बयान पर पलटवार

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के मेकिंग इंडिया और ब्रेकिंग इंडिया वाले बयान पर हमला बोलते हुए माकन ने कहा कि अगर मेक इन इंडिया का एजेंडा था तो राफेल में जो 108 जहाज एचएएल द्वारा बनाए जाने थे उसे क्यों रद्द कर दिया?

आपको बता दें कि शनिवार को बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा था कि बीजेपी मेकिंग इंडिया में लगी है, जबकि कांग्रेस ब्रेकिंग इंडिया में लगी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवाज और मरियम शरीफ को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, सजा पर लगाई रोक

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बड़ी राहत मिली