भारत में अस्थिरता का माहौल पैदा करने के लिए आतंकवाद की नीति पर काम कर रहा है पाकिस्तान: राजनाथ सिंह

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया है। रक्षा मंत्री ने सोमवार को कहा कि भारत के खिलाफ सीधे युद्ध छेड़ने में असमर्थता ने पाकिस्तान को भारत में अस्थिरता का माहौल पैदा करने के लिए आतंकवाद की नीति पर काम कर रहा है।

कार्यक्रम में बोलते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि जब से भारत स्वतंत्र हुआ है, तब से भारत विरोधी कई ताकतों द्वारा भारत के भीतर अस्थिरता का माहौल बनाने का लगातार प्रयास किया गया है। इसके लिए पाकिस्तान की धरती से बड़े पैमाने पर प्रयास किए गए हैं। 1965 और 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच दो युद्ध हुए, जिसमें पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा। इन युद्धों में हार ने पूरी तरह से साबित कर दिया कि वे भारत के साथ पूर्ण युद्ध करने की स्थिति में नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि भारत के खिलाफ सीधा युद्ध करने में असमर्थता ने पाकिस्तान को दो नीतियों पर काम करने के लिए मजबूर किया है। राजनाथ सिंह ने कहा, ‘एक तरफ उन्होंने परमाणु रास्ता खोजने की दिशा में कदम उठाए और दूसरी तरफ भारत का माहौल खराब करने के लिए आतंकवाद की नीति पर काम शुरू किया

रक्षा मंत्री ने कहा कि फरवरी, 2021 में भारत और पाकिस्तान के डीजीएमओ के बीच संघर्ष विराम समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच विश्वास की कमी एक बड़ी समस्या है। हालांकि, पिछले कुछ दिनों से सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन नहीं हुआ है। रक्षामंत्री ने कहा कि उरी की घटना के बाद सर्जिकल स्ट्राइक हो या पुलवामा हमले के बाद बालाकोट एयरस्ट्राइक, आतंकवाद के खिलाफ भारतीय सेना की कड़ी कार्रवाई स्वतंत्र भारत के इतिहास में देखने को नहीं मिलती है।

सिंह ने कहा कि सरकार अफगानिस्तान में स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी अफगानिस्तान में जो हो रहा है, वह सुरक्षा की दृष्टि से नए सवाल उठा रहा है। हमारी सरकार वहां की स्थिति पर लगातार नजर रख रही है। भारतीयों की सुरक्षा के साथ-साथ हमारी सरकार यह भी चाहती है कि वहां बन रहे हालात का फायदा उठाकर भारत विरोधी ताकतें आतंकवाद को बढ़ावा न दें।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button