भारत ने लगाया पाक पर वेबसाइट्स को ब्‍लॉक करने का आरोप, तो पाक ने उठाया ये बड़ा कदम..

- in राष्ट्रीय

भारत और पाकिस्‍तान के बीच राजनयिकों को परेशान करने के बाद एक और नया विवाद पैदा हो गया है। भारत ने आधिकारिक तौर पर पाकिस्‍तान पर उसकी सरकारी वेबसाइट्स को ब्‍लॉक करने का आरोप लगाया है। इंग्लिश न्‍यूजपेपर टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने इस बारे में जानकारी दी है। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक पाकिस्‍तान ने मई 2017 से gov.in डोमेन वाली सभी भारतीय सरकारी वेबसाइट्स को ब्‍लॉक कर रखा है। इन सभी आरोपों के बीच ही पाकिस्‍तान ने 19 से 20 मार्च को दिल्‍ली में होने वाली वर्ल्‍ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन (डब्‍लूयटीओ) की मीटिंग में हिस्‍सा लेने से इनकार कर दिया है। 

मई 2017 से ही ब्‍लॉक हैं भारत की वेबसाइट्स सूत्रों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान में भारत सरकार की वेबसाइट्स एक्‍सेस ही नहीं हो पा रही हैं।

केजरीवाल की माफी पर बयान देकर फंसे कुमार विश्वास..

सरकार की ओर से पांच बार राजनयिकों के जरिए इस बारे में पाकिस्तान से कहा जा चुका है कि भारत सरकार की किसी भी वेबसाइट्स को ब्लॉक ना किया जाए। इस मामले में पहली बार पाकिस्तान को 18 मई 2017 में नोटिस दिया गया था जबकि आखिरी नोटिस इस हफ्ते दिया गया है। भारतीय अधिकारियों के मुताबिक, पाकिस्तान ने ऐसा इसलिए किया है ताकि वहां स्थित भारतीय राजनयिक और अधिकारी अपनी ही सरकारी वेबसाइट्स को नहीं देख सकें। वहीं पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के पास भी ऐसी कई शिकायतें पहुंची हैं जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तानी नागरिक वेबसाइट के जरिए वीजा फॉर्म डाउनलोड नहीं कर पा रहे हैं। टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने एक भारतीय अधिकारी के हवाले से लिखा है कि पाकिस्तान में ऐसे एजेंट्स की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है जो प्रॉक्सी सर्वर के जरिए वहां के नागरिकों को वीजा फॉर्म भरवाने में मदद कर रहे हैं। इस कदम से इस्‍लामाबाद में स्थित भारतीय मिशन को काम करने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद