ड्रग तस्करी रोकने के लिए सूचनाओं का आदान-प्रदान करेंगे भारत और म्यांमार

नई दिल्ली। भारत और म्यांमार ने सीमाओं पर नशीली दवाओं की तस्करी रोकने के लिए सूचनाओं तथा प्रौद्योगिकी के आदान-प्रदान का निर्णय लिया है। भारतीय मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो और म्यांमार की मादक दवा दुरूपयोग नियंत्रण केन्द्रीय समिति के बीच हुई पांचवीं द्विपक्षीय बैठक में यह निर्णय लिया गया। वर्चुअल माध्यम से हुई इस बैठक में एनसीबी के महानिदेशक राकेश अस्थाना ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का और मादक दवा दुरुपयोग नियंत्रण केन्द्रीय समिति के संयुक्त सचिव ब्रिगेडियर जनरल विंग नेंग ने म्यांमार का नेतृत्व किया।

अस्थाना ने विशेष रूप से हेरोइन और एमफेटामाइन टाइप स्टिमुलेंट्स की तस्करी से संबंधित मुद्दों का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में नशीली दवाओं का अधिक दुरुपयोग चिंता का कारण है। भारत-म्यांमार सीमा में सेंध के अलावा, बंगाल की खाड़ी में समुद्री मार्ग से नशीली दवाओं की तस्करी दोनों देशों के लिए चुनौती के रूप में उभरी है। एनसीबी इस क्षेत्र में नशीली दवाओं के खतरे से निपटने के लिए म्यांमार के साथ जानकारी और सहायता साझा करने के मौजूदा तंत्र को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध रहा है।

सर्दियों का मजा बढ़ाएगा गर्मा-गर्म चुकंदर का सूप

जनरल विंग नेंग ने याबा टेबलेट के उत्पादन के बढ़ते खतरे पर प्रकाश डाला, जिसके कारण इस क्षेत्र में गंभीर चिंता पैदा हो गई है। हालांकि भारत और म्यांमार के बीच पिछले कुछ वर्षों के दौरान सहयोग तंत्र में बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने नशीली दवाओं की तस्करी तथा तस्करी की गतिविधियों की अगुवाई करने वालों के बारे में प्रत्येक स्तर पर लगातार जानकारी के आदान-प्रदान का तंत्र विकसित करने का आग्रह किया। उन्होंने नशीली दवाओं के बढ़ते खतरे का मुकाबला करने के लिए भारत द्वारा लगातार किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।

दोनों देशों ने मादक पदार्थों की जब्ती के मामलों, नए नशीले पदार्थों और इनकी अगुवाई करने वालों के खिलाफ जांच-पड़ताल करने के लिए समयबद्ध रूप से खुफिया जानकारी के आदान-प्रदान पर सहमति व्यक्त की। उन्होंने नशीली दवाओं से संबंधित कानूनों को लागू करने से संबंधित मौजूदा सहयोग को मजबूत बनाने के लिए अधिकारियों के साथ नियमित आधार पर बैठकें आयोजित करने पर भी सहमति व्यक्त की। दोनों पक्षों ने सीमाओं पर नशीली दवाओं की तस्करी पर रोक लगाने के लिए सूचनाओं तथा प्रौद्योगिकी के आदान-प्रदान का निर्णय लिया।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − nine =

Back to top button