म्युचुअल फंड के प्रति निवेशकों का आकर्षण बढ़ रहा है और ऐसे निवेशक खातों (फोलियो) की संख्या एक महीने में ही आठ लाख से अधिक बढ़कर अप्रैल 2018 के अंत में 7.22 करोड़ हो गई. वित्त वर्ष 2017-18 में 1.6 करोड़ निवेशक खाते और 2016-17 में 67 लाख खाते खुले. बता दें कि फोलियो संख्या है, जो व्यक्तिगत तौर पर निवेश करने वाले निवेशकों के खातों को आवंटित की जाती है. एक निवेशक के कई खाते हो सकते हैं, लेकिन उसका फोलियो एक होता है.

देश में 42 फंड हाउस

एसोसिएशन आफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया के आंकड़े के अनुसार देश में 42 फंड हाउस है जहां निवेशकों के खाते हैं. इस साल अप्रैल के अंत में फोलियो की संख्या 8.38 लाख बढ़कर रिकार्ड 7,21,85,970 पर पहुंच गई, जो मार्च 2018 के अंत में 7,13,47,301 थी. म्यूचुअल फंड को लेकर खुदरा निवेशकों की रुचि बढ़ी है. इससे पिछले कुछ साल से निवेशक खातों की संख्या बढ़ी है.

इस कंपनी का जबरदस्त ऑफर, अब उधार में मिलेगा पेट्रोल-डीजल

निवेशकों का भरोसा बढ़ा

ऑनलाइन निवेश सुविधा उपलब्ध कराने वाली ग्रो के मुख्य परिचालन अधिकारी हरीश जैन ने कहा, ”लगभग दो महीने के उतार-चढ़ाव के बाद बाजार में अप्रैल महीने में मजबूती देखने को मिली. नए वित्त वर्ष की शुररुआत सकारात्मक धारणा के साथ हुई जो नए निवेशकों का भरोसा बढ़ने से दिखाई देता है. दूसरा फरवरी और मार्च महीने में नरमी का कारण दीर्घकालीन पूंजी लाभ कर है.”