तीन साप्‍ताह में सामूहिक दुष्‍कर्म की तीन बड़ी घटनाएं आईं सामने, छेड़खानी का विरोध करने पर मां की हत्‍या…

 बिहार में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे के बीच आधी आबादी की चिंता अपनी जगह, लेकिन यहां उनके प्रति अपराध भी बढ़ते दिख रहे हैं। सरकारी आंकड़ों की हीं बात करें तो तीन हफ्ते में पटना, बेगूसराय व औरंगाबाद में सामूहिक दुष्‍कर्म की तीन बड़ी वारदातें कानून-व्‍यवस्‍था को शर्मसार कर रहीं हैं। सामूहिक दुष्‍कर्म की ताजा घटना औरंगाबाद से सामने आई है। गोपालगंज में दरिंदों ने चार साल की मासूम तक को नहीं छोड़ा है। हद तो यह कि बेटियां सुरक्षित नहीं और उन्‍हें बचाने की कोशिश करने वाले की दरिंदे हत्‍या तक कर दे रहे हैं। जी हां, मुंगेर में ऐसी हीं एक घटना हुई है।

लड़की को अगवा कर सामूहिक दुष्‍कर्म

बिहार के औरंगाबाद के मदनपुर इलाके में शनिवार को एक लड़की अपने पड़ोसी के घर जा रही थी कि पांच लड़कों ने मौका देख उसे बेहोश कर अगवा कर लिया। उन्‍होंने उसे एक कमरे में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। वारदात के बाद आरोपित लड़की को हत्या के लिए गाड़ी में बैठाकर कहीं ले जा रहे थे कि गश्त कर रही पुलिस की नजर पड़ गई। पुलिस ने गाड़ी का पीछा कर लड़की को छुड़ाया तथा तीन आरोपितो को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, मौका पाकर दो आरोपित भागने में सफल रहे। रविवार को लड़की के बयान पर घटना की एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

तीन महीने के तीसरा सामूहिक दुष्‍कर्म

औरंगाबाद की यह घटना तीन महीने के अंदर ऐसा तीसरा सामूहिक दुष्‍कर्म है। इसके पहले 26 सितंबर 2021 को पटना के बेऊर थाना इलाके में एक गर्भवती युवती के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म किया गया था। महिला रात में खाना खाकर टहलने निकली थी कि तीन दरिंदों ने उसे अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद बीते

11 अक्टूबर को बेगूसराय के भगवानपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में तीन युवकों ने एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म किया। लड़की देर शाम सामान लेने घर के पास की दुकान पर गई थी कि रास्ते में गांव के ही तीन युवकों ने उसे अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म किया, फिर आंख पर पट्टी बांध गांव के समीप छोड़ दिया।

दरिंदों ने मासूम को भी नहीं छोड़ा

हवस के दरिंदों ने चार साल की मासूम को भी नहीं छोड़ा। बीते बुधवार को गोपालगंज के मांझा में ननिहाल में रह रही मोतिहारी की चार साल की एक बच्ची नानी के साथ पूजा करने गई थी। वहां उसे अगवा कर दुष्कर्म किया गया। फिर, उसकी हत्‍या कर शव को एक खेत में फेंक दिया गया। अगली सुबह शव मिला।

छेड़खानी के विरोध पर मां की हत्‍या

हवस के दरिंदों का मनोबल देखिए कि मुंगेर में जब एक वृद्धा ने बेटी से छेड़खानी का विरोध किया ताे उसक हत्‍या कर दी। घटना मुंगेर के धरहरा में बुधवार को हुई। वहां बेटी से छेड़खानी का विरोध करने के प्रतिशोध में सारोबाग गांव की कैलू देवी (75) की हत्‍या कर दी गई।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 3 =

Back to top button