अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में मेरी हार के पीछे रूस का हाथ: हिलेरी

अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने खुलासा किया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में मेरी हार के पीछे रूस का हाथ है. हिलेरी ने साफ तौर पर कहा है अमेरिका के चुनाव में रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने उनके खिलाफ काम किया था. उन्होंने कहा कि रूसियों ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित किया था और अब वे मैक्सिको के चुनाव में दखल देने की तैयारी कर रहे हैं. इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के समापन सत्र ‘द ग्रेट चर्न: व्हाट हैपेन्स नाउ’ थीम पर अपने मुख्य संबोधन में उन्होंने यह बात कही.

उन्होंने कहा कि साल 2011 के बाद रूस में विरोध प्रदर्शन के लिए पुतिन ने मुझे जिम्मेदार माना, इसलिए इसका बदला अमेरिकी इलेक्शन में लिया. मैं उनसे कई बार मिली. उनसे बात की. हमारे प्रोफेशनल रिश्ते उनसे रहे हैं. इस सत्र का संचालन इंडिया टुडे ग्रुप के चेयरमैन और एडिटर-इन-चीफ अरुण पुरी कर रहे थे.

बड़ी खबर: राष्ट्रपति जिनपिंग से डर रहे हैं चीन के लोग, याद आ रही है माओ की तानाशाही

अब मेक्सिको इलेक्शन को टारगेट कर सकते हैं रशियन

हिलेरी ने कहा कि अमेरिका, इटली के चुनाव में दखल देने के बाद अब रूसी मैक्सिको के चुनाव में दखल दे सकते हैं. उनसे जब यह सवाल किया गया कि ऐसी रिपोर्ट है कि प्रेसिडेंट ओबामा को इन सब बातों की जानकारी थी, तो उन्होंने इसके बारे में चर्चा क्यों नहीं की, तो उन्होंने कहा कि उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को बताया था, लेकिन कुछ नहीं हुआ.

हिलेरी क्लिंटन ने कहा भारत उनके और उनके परिवार के दिल में खास जगह रखता है. हिलेरी ने कहा कि मौजूदा समय में दुनिया में बहुत कुछ हो रहा है और ऐसे समय में भारत को इन सबके केन्द्र में रहने की जरूरत है.

हिलेरी ने कहा अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में उनकी प्रचार टीम में कई भारतीय शामिल थे. हिलेरी ने बताया कि वह अमेरिका की राष्ट्रपति क्यों नहीं बन पाईं, इस पर एक किताब ‘वॉट हैपेंड’ लिखी है जिसमें उन्होंने उन कारणों का जिक्र किया है जिसने उन्हें राष्ट्रपति बनने से रोक लिया.

You may also like

अमेरिका के मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी मैदान में

अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि