कोरोना काल में न्यूजीलैंड में हफ्ते में चार दिन ही करना होगा काम: प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न

कोरोना से उबरने के बाद न्यूजीलैंड फिर से पटरी पर दौड़ने के लिए तैयार है. इस बीच देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न जोर शोर से लग गई हैं.

Loading...

उन्होंने नियोक्ताओं को चार दिन का वर्क वीक रखने का सुझाव दिया है. जसिंडा अर्डर्न का कहना है कि इस तरह से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा साथ ही लचीले कामकाजी विकल्पों से प्रोडक्टिविटी भी बढ़ेगी. इसके अलावा वर्क लाइफ बैलेंस (काम/ जीवन संतुलन) भी रखने में मदद मिलेगी.

प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न ने एक फेसबुक लाइव वीडियो में कहा कि अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने और घरेलू पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए देशभर से कई लोगों के सुझाव सामने आए थे.

लोगों का कहना है कि 4 दिनों का वर्क वीक होना चाहिए जिसको देखते हुए ये फैसला लिया गया है. जसिंडा ने नियोक्ताओं को सुझाव देते हुए कहा था कि उन्हे इस बात पर विचार करना चाहिए. इससे देश को काफी फायदा होगा.

प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न की इस अनौपचारिक टिप्पणियों ने न्यूजीलैंडवासियों को उत्साहित किया है. खासकर उन लोगों को जो कई तरह के सवाल कर रहे हैं कि क्या भूकंपीय (seismic), प्रणालीगत परिवर्तन (systemic change) महामारी से उत्पन्न होंगे और क्या आम जन जीवन सामान्य रूप से वापस आ पाएगा?

अर्डर्न ने कहा कि कई न्यूज़ीलैंडर्स ने कहा कि अगर वे अपने कामकाजी जीवन में अधिक लचीलापन रखते तो वे अधिक घरेलू यात्रा (domestically travelling) करते. वहीं दूसरी ओर देश के पर्यटन बाजार में महामारी के बाद भारी गिरावट आई है, जिसमें सभी सीमाएं विदेशी नागरिकों के लिए बंद हैं.जसिंडा अर्डर्न ने कहा, ‘मैंने बहुत से लोगों को यह सुझाव देते हुए सुना कि कर्मचारियों के लिए चार दिन का वर्कविक होना चाहिए. लेकिन जैसा कि मैंने कहा है कि हम कोरोना वायरस से बहुत कुछ सीख चुके हैं और जो लोग लचीलेपन में घर से काम कर रहे हैं वह भी अच्छी प्रोडक्टिविटी दे रहे हैं.’

जसिंडा अर्डर्न ने आगे कहा, ‘मैं वास्तव में लोगों को इस बारे में सोचने के लिए प्रोत्साहित करती हूं कि यदि आप एक नियोक्ता ( employer) हैं और ऐसा करने की स्थिति में हैं. इसके बारे में विचार जरूर कीजिए क्योंकि इस तरह से निश्चित रूप से पूरे देश में पर्यटन को मदद मिलेगी.

एंड्रयू बार्न्स पर्पेचूअल गार्डयन के संस्थापक हैं, जिनके पास 200 से अधिक लोग व्यापार करते हैं. उन्होंने 2018 में ही चार-दिन का वर्कविक कर दिया था.

इस दौरान बार्न्स ने पाया कि इस बदलाव से कर्मचारी अधिक खुश हैं और अधिक प्रोडक्टिव भी बन गए. साथ ही इस बदलाव से उनके कर्मचारी मानसिक और शारीरिक रूप से भी ज्यादा स्वस्थ हैं.

बार्न्स ने कहा कि न्यूजीलैंड में निश्चित रूप से कोरोना वायरस महामारी के बाद में चार दिन के वर्क वीक किया जा सकता है. यह अर्थव्यवस्था और विशेष रूप से हार्ड-हिट पर्यटन बाजार के पुनर्निर्माण की अच्छी रणनीति साबित होगी.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *