24 घंटे में 6 बार मिलेंगे पीएम मोदी और शी चिनपिंग, ‘दिल से दिल’ समिट की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय चीन के दौरे पर हैं, जहां शुक्रवार को चीनी राष्ट्रपति शी चिनपिंग से मुलाकात करेंगे. हालांकि, इन दोनों नेताओं के बीच अनौपचारिक शिखर वार्ता का कार्यक्रम है. गुरुवार की देर रात पीएम मोदी चीन के वुहान शहर पहुंचे, जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया. सबकी नज़रें आज और कल पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफ़िंग की मुलाक़ात पर टिकी हैं. पीएम मोदी और शी चिनपिंग के इस अनौपारिक शिखर वार्ता को हार्ट टू हार्ट सम्मेलन का नाम दिया गया है. यानी दिल से दिल जोड़ने के कार्यक्रम के तहत दोनों नेता वैश्विक और द्विपक्षीय संबंधों पर बातचीत करेंगे. 

डोकलाम विवाद के बाद पीएम के इस दौरे को काफ़ी अहम माना जा रहा है. दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को सुधारने के लिए आज और कल पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफ़िंग के बीच अनौपचारिक शिखर वार्ता होगी. कई दूसरे अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा होगी. खास बात है कि 24 घंटे में दोनों नेता कुल 6 बार एक-दूसरे से मिलेंगे. हालांकि इस दौरान न तो किसी समझौते पर दस्तख़त होगा और न ही कोई साझा बयान जारी होगा… 2014 में पीएम बनने के बाद मोदी चौथी बार चीन की यात्रा पर हैं. 

पहले दिन का कार्यक्रम:

27 अप्रैल को दोपहर 3.30 बजे से 4.30 बजे : पीएम मोदी और शी चिनपिंग की पहली मुलाकात होगी. जिसमें वे दोनों नेता आमने-सामने बातचीत करेंगे.
6.00 बजे : एक बार फिर पीएम मोदी और शी चिनपिंग की मुलाकात होगी. 

ग्लोबल प्रेस फ्रीडम इंडेक्स’ में गिरी भारत की रैंकिंग

6.40 बजे : पीएम मोदी शी चिनपिंग के साथ रात्रि भोज करेंगे. उम्मीद जताई जा रही है कि इस दौरान प्रतिनिधि मंडल भी उपस्थित होगा.

दूसरे दिन का कार्यक्रम: 

28 अप्रैल को 10.00 बजे से 10.30 बजे :पीएम मोदी शी चिनपिंग के साथ झील किनारे टहलेंगे. 
10.30 बजे से 11.00 बजे : ईस्ट झील में पीएम मोदी राष्ट्रपति चिनपिंग के साथ बोट राइडिंग का आनंद लेंगे.
11.40 से 12.30 बजे : राष्ट्रपति चिनपिंग के साथ पीएम मोदी लंच करेंगे. ये जितने भी कार्यक्रम हैं, वह सभी चीनी समयानुसार तय हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सेना के इशारे पर काम करती है पाकिस्‍तान सरकार : पूर्व PM अब्‍बासी

इस्‍लामाबाद : पाकिस्‍तान से पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्‍बासी ने वहां की