पाकिस्तान में आम चुनाव के नतीजे आने लगे हैं. पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि इमरान खान ही पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री होंगे. इमरान पाकिस्तान क्रिकेट टीम को वर्ल्ड कप दिलाने वाली टीम के कप्तान रह चुके हैं. लेकिन उनकी शादियां भी कम चर्चा में नहीं रही हैं. उन्होंने तीन शादी की हैं. इसमें उनकी दूसरी पत्नी रेहम खान ने उनपर कई व्यक्तिगत आरोप लगाए हैं. रेहम खान ने एक किताब लिखी है, जिसमें इमरान के चरित्र पर सवाल उठाए गए हैं. उन्होंने यहां तक कहा है कि इमरान के कई महिलाओं से नाजायज संबंध रहे हैं. दुनिया भर में उनके नाजायज बच्चे हैं, जिनमें 5 भारत में हैं. यह किताब अमेजन पर मौजूद है.

रेहम ने इस किताब में अपनी शादीसुदा जिंदगी और राजनैतिक जीवन के बारे में चर्चा की है. हालांकि, इसमें व्यक्तिगत आरोप भी लगाए गए हैं. इनमें से कुछ मानहानी तक की श्रेणी में आते हैं. किताब के कुछ अंश में इमरान खान के कई अफेयर्स का जिक्र किया गया है. इसमें होमोसेक्सुअल अफेयर भी शामिल हैं. एक टीवी चैनल से बातचीत में रेहम ने कहा है कि वह किसाब में लिखी हर चीज को कोर्ट में भी प्रूफ कर सकती है. रेहम ब्रिटिश-पाकिस्तानी ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट हैं. इमरान और रेहम ने 6 जनवरी 2015 को शादी की थी. लेकिन उसी साल अक्टूब 30 को दोनों अलग हो गए थे. यह दोनों की दूसरी शादी थी.

ड्रग्स के सेवन का आरोप

रेहम ने अपनी आत्मकथा में लिखा है, इमरान खान ड्रग्स का सेवन करते हैं. उन्होंने खुलासा किया कि वह इमरान को बाथरूम में कोक (एक तरह का नशीला पदार्थ) सूंघते हुए पकड़ चुकी हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इमरान हिरोइन (एक तरह का नशीला पदार्थ) भी लेते हैं. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इमरान के पास बेंजोडाइजेपीन जैसी प्रतिबंधित दवाएं भी रहती थीं.

इमरान के समलैंगिक होने के दावा

रेहम खान ने इमरान को समलैंगिक तक बताया है. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि इमरान लंबे समय तक एक आदमी के साथ लिव-इन में रहे थे. उन्होंने इसके लिए इरमान के करीबी दोस्त का जिक्र किया था. उन्होंने यह भी दावा किया कि पार्टी की कई महिलाओं के साथ उनके शारीरिक संबंध हैं.

ट्रंप ने कहा- ईरान के साथ वास्तविक समझौता करने के लिए अमेरिका तैयार

इमरान ने किया इनकार

पू्र्व पत्नी रेहम के लगाए आरोपों पर इमरान कह चुके हैं कि रेहम से शादी करना उनकी जिंदगी की सबसे बड़ी भूल थी. उन्होंने कहा कि रेहम ने जो भी आरोप लगाए वो सही नहीं हैं. वह उनकी छवि को धुमिल करने के लिए ऐसा कर रही हैं. उन्होंने कहा, मैंने कभी किसी महिला के साथ नाजायज संबंध नहीं बनाए. उन्होंने यहां तक कहा कि जिस महिला से उनकी शादी हुई उसे उन्होंने शादी से पहले तक कभी देखा तक नहीं था.

इमरान का राजनीतिक करियर

इमरान खान पाकिस्तान क्रिकेट टीम के चेहरा थे. वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के कप्तान. एक ऐसा प्लेयर जिसे भारत में भी ऐड मिलता था. उनकी लोकप्रियता पूरी दुनिया में थी. क्रिकेट से रिटायर होने के बाद इमरान ने राजनीति में कदम रखा. साल 1996 में उन्होंने तहरीक-ए-इंसाफ नाम से पार्टी का गठन किया. लेकिन साल 1997 में पहले चुनाव में ही उन्हें हार का सामना करना पड़ा. लेकिन उन्होंने फिर प्रयास किया और साल 2002 में उन्हें जीत मिली. इमरान ने इसके बाद संघर्ष तेज कर दी. साल 2007 में लगे आपातकाल में वह जेल गए. इसके साद साल 2008 के चुनावों का उन्होंने बहिष्कार कर दिया. इमरान ने साल 2013 में नया पाकिस्तान का नारा दिया. इसके बाद से वह लगातार संघर्ष करते रहे और आज सबसे बड़ी पार्टी के चेहरा हैं.