अवैध वसूली करते हुए विधायक के भाई को पुलिस ने किया गिरफ्तार

- in अपराध

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के नरैनी कस्बे से नरैनी के विधायक के चचेरे भाई को पुलिस ने बालू भरे ट्रकों से अवैध वसूली करते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने विधायक के चचेरे भाई को पकड़ कर जेल भेज दिया है.

बता दें कि पुलिस ने अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए सोमवार-मंगलवार की रात तकरीबन 2 बजे नरैनी कस्बे की करतल रोड की खनिज चेकपोस्ट से बालू से भरे ट्रकों से अवैध वसूली करते हुए 4 लोगों को हिरासत में लिया जिसमे एक विधायक का चचेरा भाई भी शामिल था. पुलिस अधीक्षक शालिनी ने बताया कि रात में यह लोग ट्रकों से जबरदस्ती धन वसूली कर रहे थे. पकडे गए चारों आरोपियों के खिलाफ जबरन वसूली की IPC की धारा-386 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया और उन्हें जेल भेज दिया गया है.

IAS की तैयारी कर रहे युवक ने की बच्चे की हत्या, 38 दिनों तक सूटकेस में रखा शव

पुलिस की इस कार्यवाही से अब भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश है और पुलिस ने बताया कि जेल भेजे जाने वालों में श्रीविशाल, नरैनी के विधायक राजकरन कबीर का सगा चचेरा भाई है. इस मामले में पुलिस अदीक्षाक शालिनी ने कहा कि – “भाजपा के कुछ जिलास्तरीय पदाधिकारी अपनी बात कहने जरूर आए थे, लेकिन जो सही है, वह कार्रवाई की गई है. अपराधी बड़ा है या छोटा, इससे पुलिस का कुछ लेना-देना नहीं है.”

इस पर विधायक के छोटे भाई का कहना है कि – “पुलिस ने विधायक को नीचा दिखाने के लिए उनके चचेरे भाई को जेल भेजा है. भाई अभी लखनऊ में हैं, उनसे दो टूक बात होगी. उनके कहने से ही श्रीविशाल वहां गया था.” वहीँ सबसे हैरानी करने वाली बात यह रही कि विधायक राजकरन कबीर ने आरोपी श्रीविशाल को अपना भाई होने से साफ़ मन कर दिया और कहा कि – “जेल गए सभी पार्टी कार्यकर्ता हैं.” अब ऐसे में यह और भी दिलचस्प हो गया कि इस मामले में आखिर किसकी जीत होती है.

Loading...

You may also like

भारत के इस गांव में सेक्स को खानदानी धंधा मानती है लड़कियां

अगर बात करें कानुन की तो भारत में