अगर आपको भी अपने मुंह के अंदर दिख रहे हैं ये बदलाव, तो हो सकता हैं कोरोना…

कोरोना वायरस का सबसे कॉमन लक्षण है स्वाद और गंध का महसूस नहीं होना। इस लक्षण को ज्यादातर लोगों ने महसूस किया है। संक्रमित होकर ठीक होने के बाद भी मरीजों को इस परेशानी से जूझना पड़ रहा है। अफसोस की बात ये है कि इस समस्या से निपटने के लिए कोई दवा नहीं बनी, इसलिए मरीजों को ठीक होने में लंबा वक्त लग सकता है। स्टडी के मुताबिक जो लोग कोरोना पॉजिटिव हैं, उनमें से 60 प्रतिशत से ज्यादा लोगों में ये समस्या देखी गई है। इसके अलावा ऐसे और भी ओरल लक्षण हैं, जिनपर लोग ध्यान नहीं दे रहे हैं।  

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ ने एक अध्ययन किया जिसे नेचर मेडिसिन में पब्लिश किया गया है। इस स्टडी के मुताबिक संक्रमण के दौरान लगभग आधे मरीज मुंह में होने वाले लक्षणों से पीडि़त होते हैं। एक्सपटर्स बताते हैं कि इनमें से बहुत सारे लक्षण ऐसे हैं, जो संक्रमण की वजह हैं। लेकिन, लोग इन्हें हल्की-फुल्की समस्या मानने की गलती कर बैठते हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आप अब तक अंजान है। ये लक्षण दिखें, तो समझ लीजिए कि ये कोरोना की शुरूआत है।

सांस से बदबू आना 

मुंह सूखने पर सांस से बदबू आना आम संकेत है, जिसे व्यक्ति आसानी से समझ नहीं पाता। इससे खाना चबाने और बोलने में कठिनाई पैदा हो सकती है। कोरोना महामारी में ऐसे असामान्य लक्षण दिखें, तो आपको एक बार जांच जरूर करानी चाहिए।

​कोविड जीभ 

 कोरोना जैसे खतरनाक वायरस निश्चित तौर पर जीभ को प्रभावित कर सकते हैं। स्टडी के मुताबिक, वायरस से संक्रमित होने पर मरीज को जीभ की सतह पर जलन और सूजन महसूस हो सकती है। कुछ डॉक्टर इस बात से सहमत हैं कि जीभ में महसूस होने वाली जलन त्वचा पर दिखने वाले चकत्तों से जुड़ी हुई है। इसलिए अगर त्वचा पर बिना किसी वजह के हल्के रैशेज दिखें, तो नजरअंदाज करने के बजाए एक बार अपने डॉक्टर को जरूर दिखा लें।

जीभ के रंग में बदलाव होना 

कोविड-19 एक अन्य ओरल कैविटी को प्रभावित कर सकता है और वे है जीभ के रंग का बदलना। मुंह की जलन और सूजन से आपको अजीब सी फीलिंग हो सकती है। यह ऐसा समय है जब होठों में झुनझुनी और व्यवहार में चिड़चिड़ापन बढ़ रहा है। यह भी कोविड-19 के मौखिक लक्षणों की निशानी है। अगर आप वास्तव में वायरस से संक्रमित हैं, तो इस दौरान आप जीभ पर सफेद दाग, लालपन और गहरे रंग की जीभ का अनुभव करेंगे

मुंह का सूखना 

सूखे मुंह का अनुभव करने का मतलब है लार कम बनना। इससे मुंह के चिकनाहट में कमी आती है। बता दें कि लार पाचन, मुंह को खराब बैक्टीरिया और रोगजनकों से बचाता है। जब आपका मुंह सूखा हुआ रहेगा, तो आप मुंह में सूखापन और चिपचिपाहट महसूस कर सकते हैं। इसके लिए बेशक आप कितना भी पानी पी लें, लेकिन ये स्थिति वैसी ही बनी रहेगी।

​दर्दभरे घाव 

कोविड -19 से ग्रस्त होने पर आपको सूजन आ सकती है। ऐसा तब होता है, जब वायरल मसल फाइबर पर अटैक करता है। ऐसे में संभव है कि यह सूजन आपको जीभ पर घावों के रूप में दिखाई दे। हालांकि कुछ लोगों में वायरल इंफेक्शन अल्सर, जलन और एलर्जी के रूप में सामने आ सकता है। फिलहाल, इन घावों को भरने का कोई तरीका नहीं है। खाना खाते समय इस दर्द को आपको झेलना पड़ सकता है।

किसी भी लक्षण को नजर अंदाज न करें-

विशेषज्ञों का मानना है कि जरूरी नहीं कि मुंह और जीभ में आए बदलाव कोविड -19 के ही लक्षण हों। ध्यान रखें कि ये हर किसी को प्रभावित नहीं करते। हालांकि, वायरस के बदलते व्यवहार और मामलों में वृद्धि के साथ लक्षणों को अनदेखा भी नहीं करना चाहिए। यदि इन दिनों आपको कुछ भी असामान्य लगे, तो देर न करें। समय रहते जांच जरूर कराएं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button