अगर आप भी नाश्ते में हर रोज खाते हैं ब्रेड, तो हो जाए सावधान

ब्रेकफास्ट की बात हो, या स्नैक के तौर पर सैंडविच की। हम सभी ब्रेड का सेवन करते हैं। भागती-दौड़ती जिंदगी में ब्रेकफास्‍ट का ईजी ऑप्‍शन बन गई है ब्रेड। इससे जल्‍दी पेट भर जाता है और इंस्‍टेंट एनर्जी महसूस होती है। पर क्‍या इसका लगातार सेवन आपकी सेहत के लिए ठीक है? अगर आप भी रोजाना ब्रेड का सेवन करती हैं, और यह सवाल आपको भी परेशान कर रहा है, तो आइए आज इस सवाल का जवाब आपको देते हैं 

क्या रेगुलर ब्रेड का सेवन हानिकारक होता है

विशेषज्ञ बताते हैं, होल व्हीट आटे, साबुत अनाज, बीज, या नट्स से बने ब्रेड्स का सेवन आपको कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है, लेकिन व्हाइट या सफेद ब्रेड का सेवन करने की सलाह आहार विशेषज्ञ नहीं देते। सफेद ब्रेड को बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल किया जाता है, जो हमारे पेट के लिए नुकसानदायक होती है। सिर्फ इतना ही नहीं यह वजन बढ़ाने में भी योगदान करती है।

क्‍या कहते हैं शोध 

ब्रेकफास्ट की बात हो, या स्नैक के तौर पर सैंडविच की। हम सभी ब्रेड का सेवन करते हैं। भागती-दौड़ती जिंदगी में ब्रेकफास्‍ट का ईजी ऑप्‍शन बन गई है ब्रेड। इससे जल्‍दी पेट भर जाता है और इंस्‍टेंट एनर्जी महसूस होती है। पर क्‍या इसका लगातार सेवन आपकी सेहत के लिए ठीक है? अगर आप भी रोजाना ब्रेड का सेवन करती हैं, और यह सवाल आपको भी परेशान कर रहा है, तो आइए आज इस सवाल का जवाब आपको देते हैं 

क्या रेगुलर ब्रेड का सेवन हानिकारक होता है

विशेषज्ञ बताते हैं, होल व्हीट आटे, साबुत अनाज, बीज, या नट्स से बने ब्रेड्स का सेवन आपको कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है, लेकिन व्हाइट या सफेद ब्रेड का सेवन करने की सलाह आहार विशेषज्ञ नहीं देते। सफेद ब्रेड को बनाने के लिए मैदा का इस्तेमाल किया जाता है, जो हमारे पेट के लिए नुकसानदायक होती है। सिर्फ इतना ही नहीं यह वजन बढ़ाने में भी योगदान करती है।

क्‍या कहते हैं शोध 

क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार, ब्रेड का सेवन करने से आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही तरह के प्रभाव पड़ सकते हैं। इसलिए सीमित मात्रा में ही इसके सेवन की सलाह दी जाती है। हालांकि जब आप नियमित रूप से ब्रेड का सेवन करती हैं, तो आपको कुछ संभावित लाभ प्राप्त हो सकते हैं।

आपको ऊर्जा प्रदान करती है


साबुत अनाज और फलियों में जटिल कार्बोहाइड्रेट होते हैं। इन दोनों सामग्रियों से प्राप्त ब्रेड उपलब्ध ऊर्जा की प्रचुर आपूर्ति के लिए फायदेमंद हैं। जो रक्त में ग्लूकोज के एक स्थिर प्रवाह में तब्दील हो जाता है। यह तथ्य पेशेवर एथलीटों या व्यक्तियों के लिए महत्वपूर्ण हैं, जो किसी भी शारीरिक गतिविधि के लिए अपने शरीर को तैयार कर रहे हैं, जिन्‍हें स्‍ट्रेंथ की जरूरत है

क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार, जटिल कार्बोहाइड्रेट सेरोटोनिन के उत्पादन को उत्तेजित करते हैं और यदि आप उन्हें अपने आहार से पूरी तरह से खत्म कर देती हैं तो आप वास्तव में क्रैंकी हो सकती हैं। डॉक्टर एमी जैमीसन-पेंटोनिक, क्लीवलैंड क्लिनिक में पंजीकृत आहार विशेषज्ञ, हर तीन से चार घंटे में ऊर्जावान और खुश महसूस करने के लिए जटिल कार्ब्स को खाने की सलाह देती हैं।

पेट को स्वस्थ रखती है


होल व्हीट आटे, साबुत अनाज, बीज, या नट्स से बने ब्रेड्स डाइट्री फाइबर से भरपूर होते हैं। आहारीय फाइबर अपचनीय प्लांट के भागों (indigestible plant parts) का गठन करता है। जो मल में चिकनापन बढ़ा कर मल त्‍याग को आसान बनाते हैं। नियमित मल त्याग को बढ़ावा देते हैं और अपशिष्ट उन्मूलन का समर्थन करते हैं। साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है, लाभकारी आंत माइक्रोफ्लोरा को पोषित करता है, और आपको लंबे समय तक तृप्त रखता है। 


इसका अधिक सेवन कोरोनरी हृदय रोग, स्ट्रोक, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, अधिक वजन, मोटापे और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के कम जोखिम से जुड़ा हुआ है।


प्रतिरक्षा के साथ ही मूड में भी सुधार कर सकती है

डाइट्री फाइबर में उच्च ब्रेड, आंत में अनुकूल बैक्टीरिया के विकास और प्रदर्शन को प्रोत्साहित करने वाले प्रीबायोटिक प्रभाव डालते हैं। गट माइक्रोफ्लोरा का गहन अध्ययन किया जा रहा है, क्योंकि आंत में माइक्रोबायोटा संरचना में परिवर्तन, आवश्यक शारीरिक कार्यों से संबंधित हैं जैसे कि प्रतिरक्षा, तृप्ति विनियमन और शरीर के वजन में वृद्धि। पेट में गुड बैक्‍टीरिया के बढ़ने से आपको वजन घटाने में आसानी होती है। 


इसके अलावा, जब स्टार्च वाले फलों, सब्जियों, फलियों और साबुत अनाज में पाया जाने वाला प्रतिरोधी स्टार्च होता है, तो गट फ्लोरा शॉर्ट-चेन फैटी एसिड द्वारा विघटित हो जाते हैं। जो सूजन से लड़ने और प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को मजबूत करते हैं। उदाहरण के लिए, साबुत अनाज वाली ब्रेड एक अच्छा कॉम्‍बो  है।

फोलिक एसिड को बढ़ावा दे सकती है

फोर्टिफिकेशन एक सुरक्षित अभ्यास है, जहां आवश्यक विटामिन और खनिजों को रोटी और गेहूं के आटे जैसे खाद्य पदार्थों के साथ मिलाया जाता है। कई प्रकार की ब्रेड, जैसे सफेद ब्रेड, जिन्हें आयरन, कैल्शियम और कुछ विटामिन बी के साथ फोर्टिफाइड किया जाता है। 


संयुक्त राज्य अमेरिका में अनाज उत्पादों जैसे कि परिष्कृत गेहूं के आटे की फोलिक एसिड फोर्टिफिकेशन अनिवार्य रूप से स्पाइना बिफिडा या अन्य तंत्रिका ट्यूब जन्म दोषों से प्रभावित एक महिला के जोखिम को कम करने के लिए स्थापित की गई है।


कैंसर से लड़ने में मदद कर सकती है


अमेरिकन इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च में कैंसर से लड़ने वाले फूड्स की लिस्ट में होल व्हीट ब्रेड और होल ग्रेन ब्रेड को शामिल किया गया है।

बस ध्यान रखें कि अमेरिकी सरकार द्वारा निर्धारित स्वस्थ शैली खाने के पैटर्न (2000 किलो कैलोरी प्रति दिन) में एक वयस्क के लिए अनाज की अनुशंसित मात्रा प्रति दिन 6 सर्विंग है, जिसमें से कम से कम आधा साबुत अनाज होना चाहिए।

तो क्‍या है अंतिम निर्णय 


सभी शोधों में एक बात तो कॉमन है कि व्‍हाइट ब्रेड की बजाए होल ग्रेन या ब्राउन ब्रेड खानी चाहिए। पर सिर्फ ब्रेड खाते रहना भी हेल्‍दी आइडिया नहीं है। आप इसमें सलाद, सब्जियों और हेल्‍दी स्‍प्रेड के साथ इसका पोषण मूल्‍य बढ़ा सकती हैं।


सबसे जरूरी बात, मॉडरेशन किसी भी आहार के लिए आपके स्‍वास्‍थ्‍य की कुंजी है। इसका हमेशा ध्‍यान रखें

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button