अगर आप भी ऐसे पियेंगे पानी तो भविष्य में भी नही होगी कोई बीमारी!

जी हाँ! अगर बात पीने की हुई है तो कुदरत का दिया हुआ वह अमृत (पानी, जल, नीर या Water) है, जिसके बिना जीना आसान नहीं !

लेकिन इसको पीने के भी तरीके होते हैं, पानी को अगर ठण्डा पिएं तो यह प्यास बुझाने के अलावा कुछ नुकसान भी करता है….इसके विपरीत गर्म (Warm) पानी पिएं तो प्यास बुझाने के अलावा यह हमारे शरीर को Ultimate Benefits प्रदान करता है|

यह सच है और हमारे ऋषि-मुनियों द्वारा शास्त्रों में लिखा भी गया है कि पानी को अगर गर्म अवस्था (Warm Condition) में पिया जाए तो हमारे शरीर पर अमृत के सामान प्रभाव करता है |पानी को प्रतिदिन गर्म (Warm) करके पीने से यह कई भयानक बिमारियों से बचा जा सकता है और नई बीमारी होने की भी रोकथाम की जा सकती है|

आईये  जानें गर्म पानी पीने के कुछ Ultimate फायदों के बारे में |

प्रातकाल खालीपेट गर्म पानी पीना उपयुक्त माना गया है |

प्रात:काल खाली पेट 1 ग्लास गर्म पानी से शुरू कर 4 ग्लास तक पिया जा सकता है, इसके लिए धीरे-धीरे अभ्यास की जरूरत पड़ेगी | इसके बाद 30 से 45 मिनट तक कुछ नहीं खाएं |

माइग्रेन या सिरदर्द के लिए 3 दिनों तक प्रयोग करें

ह्रदय सम्बन्धी रोग के लिए 30 दिनों तक प्रयोग करें

त्वचा के रंग को गोरा बना सकती हैं पालक की पत्तियां

नाक, कान और गला सम्बन्धी रोग के लिए 10 दिनों तक प्रयोग करें

कोलेस्ट्रॉल की रोकथाम के लिए 120 दिनों तक प्रयोग करें

भूख न लगने के लिए 10 दिनों तक प्रयोग करें

ब्लड प्रेशर कन्ट्रोल करने के लिए 30 दिनों तक प्रयोग करें

 

डयबिटीज कन्ट्रोल करने के लिए 30 दिनों तक प्रयोग करें

नसों की ब्लॉकेज (Vein Blockage) के लिए 180 दिनों तक प्रयोग करें

कैंसर कन्ट्रोल करने के लिए 270 दिनों तक प्रयोग करें

उदर रोग के लिए 10 दिनों तक प्रयोग करें

यूट्रस सम्बन्धी रोग के लिए 10 दिनों तक प्रयोग करें

माहावारी सम्बन्धी कन्ट्रोल करने के लिए 15 दिनों तक प्रयोग करें

लकवा रोग रोग के लिए 270 दिनों तक प्रयोग करें

अस्थमा रोग के लिए 120 दिनों तक प्रयोग करें

अगर हम रोजाना थोड़ा सा समय निकाल कर इस उपचार को करते हैं तो हमारे शरीर पर यह वरदान की तरह काम करेगा |………….धन्यवाद| 

Loading...

Check Also

ऐसा क्या है औरत के Breasts में जो लोग इसे देख कर इतना उत्तेजित हो जाते हैं, जानें ये मजेदार रहस्य

राह चलते मेरी आदत नज़रें नीचे कर चलने की है. मेरी ये आदत कई सालों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com