एसवाइएल का निर्माण नहीं हुआ तो बड़े आंदोलनों के लिए तैयार रहे सरकार : अभय चौटाला

- in राजनीति, हरियाणा

रोहतक। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश को बांटने का काम किया। तीन बार हरियाणा को जलाने की साजिश रची गई। एसवाइएल का निर्माण नहीं किया तो इससे भी बड़े आंदोलनों का सामना भाजपा सरकार को करना पड़ेगा। केंद्र व राज्य सरकार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू करना चाहिए।एसवाइएल का निर्माण नहीं हुआ तो बड़े आंदोलनों के लिए तैयार रहे सरकार : अभय चौटाला

अभय चौटाला नई अनाज मंडी में इनेलो-बसपा गठबंधन के के जेल भरो आंदोलन के तहत जनसभा को संबोधित कर रहे थे। चौटाला ने कहा कि सरकार अगर एसवाइएल के पानी को लाने के लिए प्रयास करती है तो इनेलो इसका स्वागत करेगा। पंजाब और दिल्ली में इनेलो पार्टी कार्यकर्ताओं ने एसवाइएल का पानी लाने के लिए सरकारों को चेताने का काम किया। जेल भरो आंदोलन सरकार की नींद खोलने के किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर जिले में जेल भरो आंदोलन किए जा रहे हैं। जब तक हरियाणा के हिस्से का पानी नहीं आता तो इनेलो लड़ाई लड़ती रहेगी। अगर भाजपा सरकार नाम की कोई चीज है तो इनेलो कार्यकर्ताओं को एक दिन जेल की सलाखों के अंदर डालकर दिखाए।

चौटाला ने कहा कि सीएम रोड पर चलने से डरते हैं। हवाई मार्ग से आते-जाते हैं। लोगों की समस्या सुनने के लिए आमजन से सीएम पर्दा लगा रहे हैं। सीएम जनता का सामना करने से डरते हैं। जनता के सवालों का जवाब सरकार के पास नहीं है।

अभय सिंह ने ये किए जनता से ये वादे

  • इनेलो-बसपा की सरकार बनी तो किसानों का कर्ज माफ करेंगे।
  • किसानों के ट्यूबवेलों का बिजली फ्री, घरों की बिजली आधी।
  • बुढ़ापा पेंशन 2500।
  • गरीब की बेटी को कन्यादान की राशि 5 लाख।
  • हर घर मे रोजगार, बेरोजगारी भत्ता 15 हजार रुपये देंगे।

अरोड़ा ने हुड्डा को भी घेरा

इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने भी भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किए। कहा कि 1700 करोड़ स्वर्ण जयंती पर खर्च कर दिया। जनता के हित मे कोई काम नहीं हो रहा। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू नहीं की गई। एसवाइएल का पानी हरियाणा में लाने में सरकार नाकाम रही। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा परिवार ने भी एसवाइएल का पानी लाने में अड़ंगा डाला था। चौधरी देवीलाल ने ही हरियाणा के हित की लड़ाई लड़ी। हरियाणा को बनाने का काम भी किया था। इनेलो और बीएसपी का मजबूत गठबंधन है और मायावती प्रधानमंत्री और प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन का मुख्यमंत्री बनेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों को लेकर पैदल मार्च कर रहे कांग्रेसी आपस में भिड़े

कानपुर : डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की