मानवता भूला डॉक्टर, ओपीडी में महिला मरीज को घसीटकर पीटा, वीडियो वायरल

- in पंजाब, राज्य

फिरोजपुर। महिला ने डॉक्टर को ज्यादा दवा लिखने को कहा तो उसकी शामत आ गई। डॉक्टर आगबबूला हो गया और ओपीडी में सरेआम उसकी पिटाई करने लगा। इस दौरान पुलिस भी वहां मौजूद थी, लेकिन उन्होंने भी डॉक्टर को रोकने का प्रयास नहीं हुआ। घटना शुक्रवार दोपहर की है, लेकिन इसका खुलासा शनिवार को हुआ जब मारपीट की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। पुलिस ने डॉक्टर कुशलदीप सिंह पर केस दर्ज कर दिया है।मानवता भूला डॉक्टर, ओपीडी में महिला मरीज को घसीटकर पीटा, वीडियो वायरल

वायरल हुए 1.38 मिनट के वीडियो में एक व्यक्ति सिविल अस्तपाल की ओपीडी में एक महिला को बालों से पकड़कर खींच रहा है। वह अस्पताल का ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. कुशलदीप बताया जा रहा है। वह गुस्से के साथ महिला के बालों को बार बार झटककर उसे फर्श पर गिराने का प्रयास कर रहा है। इतना ही नहीं, उसे महिला को गालियां भी देता है। 

मौके पर मौजूद कुछ लोग और दो पुलिस कर्मी भी चुपचाप तमाशबीन की भूमिका में रहते हैं। इसी दौरान महिला ओपीडी में कमरा नंबर 17 के सामने लगी कुर्सियों पर बैठी तो डॉक्टर फिर महिला पर झपटता है और उसके बाल नोंचते हुए उस पर टांग से प्रहार करता है। इसी दौरान एक पुलिसकर्मी बचाव का प्रयास करता है, लेकिन वह डॉक्टर को कुछ नहीं कहता।

न अस्पताल प्रशासन ने इतला दी और न ही पीसीआर कर्मियों ने

शुक्रवार दोहपर में महिला का डॉक्टर से विवाद होने पर किसी ने पीसीआर पर फोन किया। इसके बाद मौके पर दो पुलिस कर्मचारी हवलदार सुरेंद्र कुमार व होमगार्ड रोशनलाल पहुंचे। महिला को सरेआम पीटा गया, लेकिन पुलिस ने इसे अपने रिकार्ड में नहीं लिया। शनिवार सुबह सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और थाना फिरोजपुर सिटी में डॉक्टर कुशलदीप के खिलाफ एएसआइ सुखदेव सिंह की रिपोर्ट पर वायरल वीडियो को आधार बनाते हुए मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया।

मानसिक रूप से परेशान है महिला

बताया जा रहा है जो महिला डॉक्टर के पास दवा लेने आई थी, वह मलांवाला क्षेत्र की है और मानसिक रूप से परेशान है। वह डॉक्टर की कुर्सी पर बैठ गई थी। इससे गुस्साए डॉक्टर ने मारपीट की। डॉक्टर कुशलदीप सिंह द्वारा इस संबंध में दी गई सफाई का एक अन्य वीडियो सामने आया है।

इसमें डॉक्टर बता रहा है कि महिला उससे धक्के से दवा लिखवा रही थी। वह वॉशरूम गया तो पीछे से उसकी कुर्सी पर बैठ गई। डॉक्टर कहता है कि महिला ने उसकी पगडी पर हाथ डालने की कोशिश की। डॉक्टर इसमें अपनी गलती स्वीकार करते हुए कहता है कि मैं मानता हूं कि ये मेरी गलती है लेकिन उसे महिला ने उसे बहुत परेशान  रखा है। इस संबंध में जब डॉ. कुशलदीप से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनसे बात नहीं हो पाई। हालांकि उनके पिता डॉ. महेंद्र सिंह ने कहा कि किसी महिला ने डॉ. कुशलदीप की पगड़ी पर हाथ डालने का प्रयास किया था।

एसएमओ बोले- मुझे पता नहीं

सिविल अस्पताल, फिरोजपुर के एसएमओ का कहना है कि डॉ. प्रदीप अग्रवाल मैं कल अस्पताल में नहीं था। मुझे किसी घटनाक्रम के बारे में पता नहीं। 

जांच कर कार्रवाई करेंगे

डिप्टी मेडिकल कमिश्नर, फिरोजपुर डॉ. रेणु सिंगला का कहना है कि वीडियो मिलने के बाद एसएमओ डॉ. प्रदीप अग्रवाल को जांच के लिए निर्देश दिए हैं। जांच रिपोर्ट मिलते डॉक्टर के खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी।

पुलिस कर्मियों को दी जाएगी चार्जशीट

एसएसपी प्रीतम सिंह ने बताया कि डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उसे गिरफ्तार किया जाएगा। उन्हेांने बताया कि मौके पर पहुंचने के बाद भी कार्रवाई न करने वाले हवलदार और होमगार्ड के खिलाफ भी चार्जशीट की कार्रवाई की जाएगी। पीसीआर प्रभारी एसआइ सुनील कुमार ने अपनी जांच रिपोर्ट में हवलदार सुरेंद्र कुमार व होमगार्ड रोशनलाल को ड्यूटी में लापरवाही का आरोपी माना है।

 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में